घर में बंधक बनाकर करवाया जा रहा था काम, 16 महीनों से नहीं दिया वेतन

Breaking चर्चा में हरियाणा

यमुनानगर में झारखंड की एक युवती से करीब 16 महीने से बंधक बनाकर घर का काम करवाया जा रहा था. अब लड़की को मुक्त करवाया गया है. स्टेट कमीशन के आदेशों पर यह कार्रवाई हुई है।

यमुनानगर के हुड्डा सेक्टर-17 के मकान नंबर 1194 में झारखंड की 22 वर्षीय युवती को एंजेट के जरिये काम के लिए बुलाया गया था. यहां पर युवती से काम तो करवाया गया लेकिन मजदूरी नहीं दी गई. अब पीड़िता ने परिजनों को फोन कर इसकी जानकारी दी ।

लड़की के अनुसार एजेंट ने 8 घंटे काम करने के बदले 8000 रूपये दिलवाने का वादा किया था। लेकिन मकान मालिक पिछले कई महीनों से बंधुआ मजदूर की तरह उससे काम ले रहा था। भाषा समझ नहीं आने के कारण वो किसी से अपनी समस्या नहीं बता पा रही थी।

10 दिन पहले उसने मकान मालिक के लैंडलाईन नंबर से घरवालों को फोन किया। जिसके बाद वहां कि पुलिस ने चंडीगढ़ एसपी को फोन कर लड़की के बंधक होने की सूचना दी।

मेंबर चाईल्ड राईटस के मेंबर परमजीत सिंह बडोला का कहना है कि चंडीगढ़ स्टेट कमीशन ने चाईल्ड राईटस विभाग को लड़की के बंधक बनाकर काम लेने की सूचना दिया। सूचना मिलने के बाद जिस नंबर से लड़की ने फोन किया था, उसको विभाग द्वारा ट्रेस किया गया। सूचना को संज्ञान में लेते हुए छापेमारी कर लड़की को बरामद कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *