दलित बेटी को अपनो ने ठुकराया तो, जाट भाई ने भात की रस्म अदा कर पेश की एक मिसाल

Breaking कला-संस्कृति

जाति के मसले पर मरने-मारने की घटनाएं तो सामने आती रहती हैं। पर हरियाणा के जींद से एक आईना दिखाने वाली घटना सामने आई है। यहां के जाट परिवार ने एक दलित की बेटी के ब्याह की सारी रस्में अदा करके एक मिसाल कायम की। सोमवार को जाट परिवार ने अपने घर में काम करने वाली महिला केलो देवी की बेटी की शादी से पहले भाई द्वारा निभाई जाने वाली खास रस्म भात भरकर पूरा किया।

गांव जाजवान की केलो देवी वाल्मीकि समुदाय से संबंध रखती हैं, और घरों में कामकाज कर के अपने पविार का गुजारा करती हैं। केलो देवी की बेटी रिंकू की सोमवार को शादी थी। हरियाणा में शादी से पहले भात भरने की रस्म सबसे अहम होती है। इसमें लड़की अपने भाई और पिता के घर भात न्यौतने के लिए जाती है। भात न्यौतने के बाद पीहर वाले शादी में आकर भात भरते हैं।

केलो देवी के माता-पिता का देहांत हो चुका है और उसका सगा भाई भी नहीं है। भात न्यौतने के लिए केलो देवी अपने चाचा और ताऊ के परिवार में गईं, तो उन्होंने मना कर दिया। जिसके बाद रोहताश ने अपने परिवार की महिलाओं और बाकी सदस्यों समेत हरियाणा की खास रस्म भात को बखूबी निभाया। और केलो देवी का भात भरा।

समाज सदैव इसी तरह के लोगों से बनता है, जो जात-पात से उपर उठकर काम करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *