पानीपत को मिली 145 करोड़ की परियोजना ‘स्मार्ट ग्रिड’, मुख्यमंत्री व जापान के राजदूत आज करेंगे शुभारंभ

चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

भारत के पहले स्मार्ट ग्रिड पायलट प्रोजेक्ट की सौगात गुरुवार को पानीपत के निवासियों को मिलने जा रही है। जापान की नीडो कंपनी व उतरी हरियाणा बिजली वितरण निगम ने संयुक्त रूप से स्मार्ट ग्रिड पायलट प्रोजेक्ट तैयार किया है।इस पर 145 करोड की लागत आई।

इसके तहत पानीपत की सिटी डिवीजन अंतगर्त आने वाले मिनी सचिवालय, हुडा सेक्टर-13 व 17, गोहान रोड, तहसील कैंप, सलारगंज गेट क्षेत्र 10 ट्रांसफार्मर, 1300 पोल, 11 हजार बिजली के मीटर व तार की जगह केबल लगाई गई।

जबकि 22 स्थानों पर लोड ब्रोकिंग स्विच लगाए गए। वहीं स्मार्ट ग्रिड का कंट्रोल रूम मिनी सचिवालय स्थित 33 केवीए सब स्टेशन में बनाया गया है। इस प्रोजेक्ट पर जापानी नीडो कंपनी व उतरी हरियाणा बिजली वितरण निगम के 100 अधिकारियों व कर्मियों ने एक साल तक दिन रात मेहनत की।

बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल और जापान के राजदूत गुरुवार को स्मार्ट ग्रिड का विधिवत शुभारंभ करेंगे। उद्घाटन कार्यक्रम हुडा सेक्टर-6 में आयोजित होगा। इसके लिए जापानिी कंपनिी ने एक सर्वे असम के गुवाहटी, राजस्थान के जोधपुर और हरियाणा में पानीपत का चयन किया था। सर्वे में सबसे खराब हालत पानीपत की मिली थी। इसलिए जापानी कंपनी नीडो ने स्मार्ट ग्रिड के लिए पानीपत का चयन किया।

इसके साथ ही पानीपत देश का ऐसा पहला जिला बन जाएगा जहां स्मार्ट ग्रिड पायलट प्रोजेक्ट की शुरूआत होगी और बिजली चोरी नहीं हो सकेगी। स्मार्ट ग्रिड से बिजली की आपूर्ति होने के उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली की आपूर्ति होगी, यदि कोई फॉलट होता है तो उसका पल भर में ग्रिड के कंट्रोल रूम से पता चल जाएगा। मीटरों से रीडिंग लेने का झंझट खत्म होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *