प्रदेश के 557 स्कूल बच्चों की सेफ्टी के लिए गंभीर नहीं, शिक्षा निदेशालय ने दी अंतिम चेतावनी

बड़ी ख़बरें हरियाणा विशेष

पिछले महीने ही रेवाड़ी के कतोपुरी निवासी कक्षा चौथी के छात्र की सड़क हादसे में मौत हो गई। वह सड़क के पास स्कूल बस का इंतजार कर रहा था। डंपर ने उसे चपेट में ले लिया। इसी प्रकार झज्जर के गांव सिलानी के छात्र को सड़क पार करते वक्त अज्ञात वाहन ने कुचल दिया था। ऐसी अनेक घटनाएं हैं, जिनमें स्कूल के बच्चे हादसों का शिकार हो रहे हैं।

इसी को लेकर स्कूल में रोड सेफ्टी क्लब बनाए जाने का पत्र निदेशालय ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से लेकर स्कूल मुखियाओं तक को भेजे। आदेश सुप्रीम कोर्ट से जारी होनो के बावजूद अनेक स्कूल इसके प्रति गंभीर नहीं है। प्रदेश में 557 स्कूलों में अब तक यह क्लब नहीं बनाए गए हैं।

निदेशालय ने जनवरी में ही दो आदेशों के बाद अब तीसरे पत्र में स्कूल मुखियाओं को चेतावनी दी है कि यदि 29 जनवरी तक क्लबों का गठन नहीं किया गया तो यह विभाग के आदेशों की अवमानना मानते हुए कार्यवाही की जाएगी।

प्रदेश में करीब 1968 सीनीयर सेकंडरी स्कूल हैं, जिनमें 1401 स्कूलों ने क्लब का गठन किया है, लेकिन 557 अभी इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। बता दें कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 22 लाख से ज्यादा विद्यार्थी पढ़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *