बेटी के सर सजा पगड़ी का ताज, पेश की अनुठी मिसाल

Breaking हरियाणा विशेष

एक जमाने में महिलाओं के कम लिंगानुपात को लेकर हरियाणा चर्चा में रहता था। कहा जाता था हरियाणा में लड़कियों का अनुपात कम है। लेकिन हाल के दिनों में तस्वीर बदली है। हरियाणा की बेटियां कॉमनवेल्थ और ओलिंपिक गेम्स में मेडल ला रही हैं। गीता फोगाट से लेकर साक्षी मलिक तक इसकी मिसाल हैं।

हरियाणा में इस बदलती तस्वीर में हरियाणा के लोगों का बड़ हाथ है। रविवार को कुरुक्षेत्र जिले से शुरू हुई एक नई पहल ने सभी का ध्यान खींचा है।

धर्मनगरी-कुरुक्षेत्र में हरियाणा ब्राह्मण धर्मशाला एवं छात्रावास के प्रदेशाध्यक्ष पवन शर्मा पहलवान ने अपने बेटे की शोक सभा में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली अपनी 16 वर्षीय बेटी समनवी शर्मा को पगड़ी पहनाई है।

कहते है पगडी घर का मान होता है, जिम्मेवारी होती है, चौधर होती है। जो घर का मर्द ही संभालता है। लेकिन पवन शर्मा ने सारी परंपराओं को दरकिनार करते हुए बेटी को पगड़ी पहना कर एक मिसाल पेश की।

पवन शर्मा पहलवान ने अपने 21 वर्षीय बेटे हितेश शर्मा की रस्म पगड़ी के अवसर पर इस बात का ऐलान करने से जरा भी गुरेज नहीं किया कि आज से उनकी बेटी समनवी शर्मा ही उनका सम्मान है। उन्होंने कहा कि भविष्य में उनकी बेटी ही समाज में बेटे की तरह सभी जिम्मेदारियों को निभाने का काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *