राजस्थान में मिला सोने का भंडार, साढ़े ग्यारह करोड़ टन सोने का पता लगा

देश

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग ने दावा किया है कि राजस्थान के बांसवाड़ा और उदयपुर जिला में 11.48 करोड़ टन के सोने के भंडार का पता लगाया गया है। विभाग के महानिदेशक एन. कुटुंबा राव ने कहा है कि राजस्थान में सोने की खोज में नई संभावनाएं सामने आई हैं।

उदयपुर और बांसवाड़ा जिलों के भूकिया डगोचा में सोने के भंडार मिले हैं। राव के अनुसार राजस्थान में 2010 से अबतक 8.11 करोड़ टन तांबे के भंडार का पता लगाया जा चुका है। इसमें तांबे का औसत स्तर 0.38 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि राजस्थान के सिरोही जिले के देवा का बेड़ा,सालियों का बेड़ा और बाड़मेर जिले के सिवाना इलाकों में अन्य खनिज की खोज की जा रही है।

बतादें कि राजस्थान में 35.65 करोड़ टन के सीसा-जस्ता के संसाधन राजपुरा दरीबा खनिज पट्टी में मिले हैं। इसके अलावा, भीलवाड़ा जिले के सलामपुरा और इसके आसपास के इलाके में भी सीसा-जस्ता के भंडार मिले हैं। प्रदेश में उर्वरक खनिज पोटाश और ग्लुकोनाइट की खोज के लिए नागौर, गंगापुर और सवाई माधोपुर में उत्खनन का काम चल रहा है। इन जिलों में पोटाश और ग्लुकोनाइट के भंडार मिलने से भारत की उर्वरक खनिज की आयात पर निर्भरता कम होगी।
अभी तक सोने के भंडार के मामले 557.7 मीट्रिक टन के साथ भारत दुनिया में 10वें स्थान पर है, जबकि सबसे ज्यादा 8133.5 मीट्रिक टन सोना अमेरिका के पास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *