हाईकोर्ट ने एचएमटी की बंदी पर लगाई अंतिम मोहर, अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा असर

बड़ी ख़बरें

हरियाणा की सिरमौर कही जाने वाली केंद्र सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठान एचएमटी पिंजौर की ट्रैक्टर फैक्ट्री बुधवार को हमेशा के लिए बंद हो गई।

इसके साथ ही पंजाब के मोहाली और आंध्र प्रदेश के हैदराबाद स्थित एचएमटी ट्रैक्टर यूनिटें भी बंद हो गई। पिंजौर स्थित ट्रैक्टर फैक्ट्री के सभी 1000 कर्मचारियों, अफसरों को निकाल दिया गया है।

इनमें से 850 ने तो वालंटरी रिटायरमेंट ली थी जबकि 150 ने वीआरएस नहीं ली और वे पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में चले गए थे मगर उन्हें कोई राहत नहीं मिली।

इन 150 कर्मचारियों और अफसरों की सेवाएं भी समाप्त कर दी गई। उन्हें उनका बकाया तब मिलेगा जब हाईकोर्ट में लंबित याचिका का निपटारा होगा।

केंद्र सरकार ने बुधवार को हाईकोर्ट में अंडरटेकिंग दी कि अगर पिंजौर स्थित फैक्ट्री में कोई दूसरी कंपनी आएगी तो इन कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

एचएमटी फैक्ट्री का हरियाणा के अलावा चंडीगढ़, पंचकूला, मोहाली, पिंजौर, कालका के विकास में अहम योगदान रहा है। अब इस फैक्ट्री के बंद होने से यहां की अर्थव्यवस्था बिगड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *