हरियाणा में लगेंगे 10 लाख स्मार्ट बिजली मीटर, बिजली विभाग ने लिया फैसला

चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Haryana, 08-04-2018

हरियाणा सरकार के अतिरिक्त सचिव पी.के. दास ने बिजली विभाग ने हरियाणा  में 10 लाख  स्मार्ट मीटर लगाने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं  को सबसे बड़ी दिक्कत होती है, मीटर रीडिंग की और उसके बाद बिल की। कई बार मीटर रीडिंग को लेकर दुविधा बनी रहती है। कई बार अगर मीटर जल जाए तो उसकी रीडिंग का पता नहीं चलता है। अगर पता भी कर लिया जाए तो उपभोक्ता बकाया देने की स्थिति में नहीं होता है।

वहीं अब नए स्मार्ट मीटर का रिमोट फिट किया जा सकता है। उससे इलैक्ट्रॉनिक मीटर रीडिंग करना इसमें बहुत बड़ा कदम होगा। यह एक अच्छा कदम है। उनका कहना है कि विभाग के डिफाल्टरों में सरकारी विभागों में पहला नंबर अर्बन लोकल बॉडी का है। सबसे ज्यादा पैसे अर्बन लोकल बॉडी पर अटके हुए थे। इसमें फरीदाबाद नगर निगम सबसे ऊपर है। इसके अलावा पंचायत विभाग, जन अभियांत्रिकी तथा दूसरे अन्य विभागों की राशि कम थी।

लगभग 450 करोड़ रुपए यूटिलिटी को मिलाकर और इसमें सरचार्ज भी शामिल था। मार्च के दूसरे हफ्ते में कैबिनेट से मंजूरी लेकर सरचार्ज लागू किया गया है। जो 30अप्रैल तक के लिए लागू है। इसके दौरान अगर वह मूल राशि दे जाते है तो उनका सरचार्ज माफ हो जाएगा। सरकार से निवेदन करके जिन विभागों की राशि बहुत ज्यादा थी। उनके लिए पैसे का बंदोबस्त भी किया है।

उम्मीद है कि अप्रैल तक सभी विभागों की पेमैंट आ जाएगी। अभी फिलहाल 31 मार्च तक उत्तर हरियाणा बिजली निगम के 36 करोड़ रुपए मूल राशि के विभिन्न विभागों के बकाया है और 5 करोड़ के लगभग सरचार्ज उनके ऊपर है। इस हिसाब से 41 करोड़ रुपए उन पर भी बकाया है।

दक्षिण हरियाणा बिजली निगम में कई विभागों के पैसे आ गए है। ऐसे में फैसला लिया गया है कि अर्बन लोकल बॉडीज की जो हमारी देनदारी है उनके लिए जैसे हाऊस टैक्स जो हमारे विभागों ने देना है वह भी देनदारी में एडजस्ट करने की भी व्यवस्था कर दी जाएगी।  बिजली विभाग ने स्मार्ट मीटर लगाने का फैसला लिया है।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *