150 साल बाद दुर्लभ चंद्रग्रहण, आज दिखेगा ‘सुपरब्लू मून’

दुनिया देश

बुधवार 31 जनवरी को इस साल का पहला चंद्रग्रहण है। इसी दिन माघ पूर्णिमा भी है। पूर्णिमा यानि फुल मून। चंद्रग्रहण कई देशों में देखा जा सकेगा सबसे बड़ी बात ये है कि चांद समान्य से 30 फीसदी चमकीला होगा और 12 फीसदी बड़ा होगा।

फिजिकल रिसर्च लेबोरेटरी अहमदाबाद के एसोसियेट प्रोफेसर संतोष ने बताया कि चंद्रग्रहण में जो खास बात होगी, वह इसका पृथ्वी के सबसे करीब होना होगा।

पृथ्वी के ज्यादा करीब होने के कारण इस बार सूर्य की किरणों का रिफ्लेक्शन भी कुछ ज्यादा होगा। पृथ्वी से टकराकर सूर्य की किरणें चंद्रमा से टकराएंगी। इस कारण इसका रंग थोड़ा लाल हो जाएगा इसलिए इस बार चंद्रग्रहण को सुपरब्लू मून का नाम दिया गया है।

चंद्रग्रहण 31 जनवरी को शाम 5:18 से 6:21 तक देखा जा सकेगा। इससे पहले ऐसा नजारा 1866 में देखा गया था लेकिल इसे केवल अमेरिका में ही देखा जा सका था।

ज्योतिषियों के मुताबिक चंद्रग्रहण का समय 5:18 से रात्रि 8:41 रहेगा। भारत के असम, अरूणाचल ,नागालैंड, मिजोरम,सिक्किम, पश्चिम बंगाल में पूर्ण चांद पर ग्रहण लगते देखा जा सकेगा लेकिन अन्य राज्यों में चंद्रोदय होगा ही ग्रहण के समय। इन स्थानों पर ग्रहण के बाद पूर्ण चांद के दर्शन होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *