हड़ताली रोडवेज कर्मियों पर सरकार का हंटर, ESMA के तहत 164 सस्पैंड, चार्जशीट थमा हफ्ते में होगी अति सख्त कार्रवाई

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

रोडवेज कर्मचारियों की 5 सितंबर की घोषित हड़ताल से 3 दिन पहले ESMA लगाने वाली हरियाणा सरकार ने अब हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ और सख्त रुख अपना लिया है। सरकार ने एस्मा लगाए जाने के बावजूद हड़ताल पर जाने वाले 164 रोडवेज कर्मियों को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के आदेश दिए हैं। ये सभी कर्मचारी या तो पुलिस हिरासत में हैं या फिर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिए गए हैं। सरकार ने आदेश जारी किया है कि जमानत हो जाने की सूरत में भी किसी कर्मचारी को ड्यूटी पर बहाल नहीं किया जाएगा।

वीरवार शाम सरकार की ओर से जारी सख्त आदेशों में कहा गया है कि सभी हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ ड्यूटी में कोताही बरतने, सरकार का आदेश ना मानने और आम लोगों को असुविधा पहुंचाने जैसे आरोपों के साथ चार्जशीट थमाई जाए और उनके खिलाफ सबसे सख्त विभागीय कार्रवाई की जाए। सरकार ने सभी जिला अधिकारियों से उन कर्मचारियों की पूरी जानकारी मांगी है जिनके खिलाफ एफआईआर हुई है और एक हफ्ते के भीतर उनके खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा है। युवा हरियाणा को मिली जानकारी के अनुसार कुछ जिला स्तर के अधिकारी भी सरकार के निशाने पर हैं जिन्होंने हड़ताल को रोकने की बजाय उसे बढ़ावा देने का काम किया।

गिरफ्तार हुए और सस्पैंड किए गए ज्यादातर कर्मचारी विभिन्न कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी हैं और सरकार से विफल हुई बातचीत के बाद उग्र रूप अपनाए हुए थे। फिलहाल सरकार के इस बेहद सख्त कदम के बाद आशंका बन गई है कि तमाम कर्मचारी संगठन इकट्ठा होकर सरकार के खिलाफ संयुक्त हड़ताल या आंदोलन का सिलसिला ना शुरू कर दें। चुनावी वर्ष में राज्य सरकार के लिए कर्मचारियों की नाराजगी बड़ा सिरदर्द बन सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *