170 फैक्ट्रियों को यमुना को प्रदूषित करने पर नोटिस

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Panipat, 12 April, 2019
यमुना पोल्यूशन मॉनिटरिंग कमेटी ने लगातार प्रदूषित हो रही यमुना नदी की स्वछता को ध्यान में रखते हुए एक अहम फैसला लिया है। कमेटी ने यमुना नदी में बह रहे फ़ैक्टरियों के पानी को बंद करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कमेटी का कहना है कि कंपनी के मालिकों द्वारा अगर इस बात पर कोई विचार विमर्श नहीं किया गया, तो इन सभी फ़ैक्टरियों को जल्द से जल्द बंद करवा दिया जाएगा।
कमेटी ने यह निर्देश केन्द्री प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड के माध्यम से हरियाणा प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड को दिए हैं। जांच के बाद कमेटी ने पाया कि कई फ़ैक्ट्रियां अपना प्रदूषित पानी बिना किसी ट्रीटमेंट के यमुना नदी में बहा रही हैं। ट्रेनों का प्रदूषित पानी यमुना नदी में छोड़ा जा रहा है।
वहीं हरियाणा प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड ने यमुना को प्रदूषित होने से बचाने के लिए प्रदुषण फैला रही फैक्ट्रियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं। सीपीसीबी ने मार्च महीने से अभी तक 70 फैक्ट्रियों से गंदे पानी के बहने के सैंपल भरे है। आपको बता दें कि पानीपत के ग्रामीण आंचल में कई फ़ैक्ट्रियो अवैध रूप से चल रही है। इन फैक्ट्रियो से निकलने वाला प्रदूषित पानी ड्रेन में छोड़ो जाता है जो की आखिर में जाकर यह पानी यमुना में जाकर मिल जाता है। जिससे यमुना में रह रहे जीवों को ख़तरा उत्पन होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *