जमीनी विवाद में दो गुटों में हिंसक झड़प, दो लोगों की मौत, कई गंभीर

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Bhiwani, 14 Oct, 2018
चरखी दादरी के जगराम बास गांव में आज जमीनी विवाद में दो परिवारों में हिंसक झड़प हो गई जिसमें दो लोगों की मौत हो गई जबकि चार लोग गंभीर रुप से घायल बताए जा रहे हैं। घटना के बाद ग्रामीणों ने घायलों को अस्पताल में दाखिल करवाया है।
बताया जाता है कि गांव जगराम बास में एक परिवार के कमल व मदन नामक दो भाईयों में सालों से करीब डेढ एकङ जमीन का विवाद चल रहा था। इस विवाद में उनके ही परिवार के रामेशवर मदन की तरफ था तथा शेरसिंह कमल की तरफ था। रविवार को दोनों पक्षों में खेतों में झगङा हो गया। इस झगङे में मदन गुट ने कमल गुट के लोगों पर लाठी डंडों तथा तेजधार हथियारों से हमला कर गंभीर रुप से घायल करने का आरोप है।
इसी बीच कमल ने अपने पक्ष पर हुए हमले से घबरा कर अपनी लाईसेंसी बंदूक से गोली चला दी। गोली लगने से मदन गुट के करीब 30 वर्षिय सोमबीर की मौत हो गई और तेजधार हथियारों की चोट से कमल गुट के करीब 30 वर्षीय विकास की मौत हो गई। वहीं चोट लगने से कुल चार अन्य लोग घायल हो गए।
आनन-फानन में सभी को भिवानी के चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया। यहां पर चिकित्सकों ने सोमबीर व विकास को मृत घोषित कर दिया और बाकी घायलों को उपचर शुरु किया। घायलो में से प्रदीप को हालत गंभीर होते देख रोहतक पीजीआई रेफर किया गया।
राजेश धनखङ ने बताया कि उनके परिवार में जमीनी विवाद को लेकर झगङा हुआ है जिसमें उसके दो चचेरे भाईयों की मौत हो गई और कुछ लोग घायल हो गए। राजेश धनखङ ने बताया कि ये विवाद पटवारी व तहसीलदार द्वारा जमीन चढाने में हैराफेर करने के चलते शुरु हुआ। उन्होने बताया कि गोली कमल ने चलाई है।
मामले की सूचना पाकर दादरी के बाढङा डीएसपी दलीप सिंह अपनी पुलिस टीम के साथ चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल भिवानी पहुंचे। उन्होने यहां मृतकों व घायलों के परिजनों से बात कर जांच शुरु की। डीएसपी दलीप सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद में दो लोगों की मौत हुए है और चार घायल हुए हैं। उन्होने बताया कि परिजनों के बयान लेकर आगे की कार्यवाई की जाएगी।
बता दें कि कमल व मदन में ये जमीनी विवाद चल रहा था। मृतक सोमबीर व विकास का जमीन को लेकर कोई लेना देना नहीं था, लेकिन दोनों द्वारा कमल व मदन का पक्ष लेने पर इस झगङे में अपनी जान गंवानी पङी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *