जिंदगी से डिप्रेशन को दूर करने का 21 साल के युवक ने निकाला नायाब तरीका

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Hisar, 15 July 2019 

दोस्तों, अब से कुछ 10 से 15 साल पहले लोगों की जिंदगी अच्छी खुशहाल सी रहती थी। हर कोई इंसान एक दूसरे के दुख व परेशानी को अपना समझता था। लेकिन आज की इस बिजि लाइफ में किसी के पास किसी के लिए समय ही नहीं है। ऐसे में लोग खुद को अकेला महसूस करते है और धीरे-धीरे डिप्रेशन में चले जाते है।

ऐसे ही एक 21 साल के युवक अर्जुन गुप्ता की कहानी है। जो करीब 4 साल पहले डिप्रेशन का शिकार हो गया। वह इससे टूटा नहीं बल्कि इस कड़वे सच को स्वीकार किया और अपने फेसबुक पेज के जरिए पेरेंट्स, दोस्तों और रिश्तेदारों तक इस सच को पहुंचाया। ये युवक हिसार के जाने-माने डॉ. एनडी गुप्ता के बेटे है।

अर्जुन ने डिप्रेशन से लड़ते हुए ब्लॉग लिखना शुरू किया। उन्होंने पहली किताब ए टू जैड ऑफ मेंटल हेल्थ लिखने के बाद दूसरी किताब इश..श..डॉन्ट टॉक अबाउट मेंटल हेल्थ, वाय बीइंग क्वाइट इज नो लाॅन्गर एन ऑप्शन के जरिए लोगों को मानसिक तनाव पर खुलकर बात करने काे प्रेरित किया।

अर्जुन ने बताया कि उन्होंने मैट्रिक में 10 सीजीपीए, बारहवीं में 95 प्रतिशत और फिर नीट क्लियर करने के बाद एआईपीएमटी में 579वीं रैंक हासिल की। जिसके बाद वह डिप्रेशन में चले गए थे। अर्जुन का कहना है कि अगर आप मानसिक रूप से परेशान है तो इसके बारे में अपने माता-पिता व दोस्तों से खुलकर बातें करे। इससे आपका तनाव कुछ हद तक खत्म हो जाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *