मुंबई में 26/11 के हमले में वीरता देखाने वाला सैनिक सम्मान को तरसा, हाईकोर्ट में लगाई याचिका

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh

 

26 नवंबर 2008 को मुंबई में ब्लास्ट में कई लोग मारे गए थे। यह देश बहुत बड़ा हमला था। इस हमले में उस समय में भारतीय सेना के जवानों ने अपनी वीरता का परिचय दिया था। लेकिन उस समय के आतंकी हमले के हीरो ने पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में ऑपरेशन ब्लैक टॉरनेडो को लीड करने वाले मेजर कर्मजीत सिंह ने कहा है कि हरियाणा सरकार ने अब तक उनको सम्मान राशि नहीं दी।

बता दें कि रेवाड़ी के रहने वाले मेजर कर्मजीत सिंह उस समय मुबंई ऑपरेशन ब्लैक टॉरनेडो में नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) को लीड कर रहे थे। उन्होंने अपनी याचिका में कहा है कि उन्हें राष्ट्रपति द्वारा वीरता सम्मान दिया गया था। इसी के आधार पर उन्होंने सरकार से सम्मान राशि दिए जाने की अपील की थी। लेकिन हरियाणा सरकार ने उनकी अपील को नहीं माना औऱ उसे खारिज कर दिया।

वहीं कोर्ट का कहना है कि मेजर कर्मजीत सिंह ने वीरता उस समय चल रहे युद्ध के दौरान नहीं दिखाई थी बल्कि युद्ध के बाद शांति के दौर में थी। लेकिन मेजर ने कहा है कि राष्ट्रपति द्वारा दिए गए सम्मान में कहीं पर भी नहीं लिखा कि उनकी वीरता शांति दौर में दिखाई थी या वे युद्ध के शांति वाले दौर में थे।

याचिकाकर्ता ने कहा है कि हरियाणा सरकार की नीति के तहत राष्ट्रपति से इस प्रकार का सम्मान मिलने वाले को 5 लाख 50 हजार रुपये इनाम देने का प्रावधान है जो उन्हें नहीं मिला है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *