कॉमनवेल्थ गेम्स 2018- देश के 40 फीसदी मेडल हरियाणा के होनहार खिलाड़ियों के नाम

Breaking खेल चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा युवा चैम्पियन सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Panchkula (13 April 2018)

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में अबकि बार हरियाणा के खिलाड़ियों का खुब बोलबाला रहा। विशेषकर बॉक्सिंग, कुश्ती और शूटिंग में हरियाणा के खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन दिखा भारत के लिए मेडल्स की झड़ी लगा दी। इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स में अभी तक भारत ने 25 गोल्ड, 16 सिल्वर और 18 ब्रोंज के साथ कुल 59 मेडल जीते है। आप हैरान रह जाएंगे यह जान कर कि इन 59 मेडल में से 25 हरियाणा के खिलाड़ियों ने अपना दम दिखा कर हासिल किए है। 25 में से 11 गोल्ड हरियाणा के नाम रहे।

आइए जानते है हरियाणा के किस-किस खिलाड़ी ने अब तक देश के लिए मेडल जीते हैं –

विकास कृष्ण यादव – भिवानी के बॉक्सर विकास कृष्ण यादव ने मुुक्केबाजी के 75 किलो भारवर्ग स्पर्धा में गोल्ड अपने नाम किया। विकास यादव अर्जुन अवार्डी खिलाड़ी हैं और हरियाणा सरकार में डीएसपी हैं। कई इंटरनेशल मैडल जीत चुके हैं।

विनेश फोगाट – दादरी पहलवान विनेश फोगाट ने महिलाओं की 50 किलो फ्रीस्टाइल मुकाबले में गोल्ड अपने नाम किया है। विनेश ने कनाडा की जेसिका मैक्डोनाल्ड को 13-3 से मात देते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया।

नीरज चोपड़ा– जैवलिन थ्रो में पानीपत के 20 साल के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता है नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। नीरज ने पुरुषों की भालाफेंक स्पर्धा में देश के लिए गोल्ड मेडल जीता है।

गौरव सोलंकी –  बल्लबगढ़ के गौरव सोलंकी ने भारत को मुक्केबाजी के 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से हराकर गोल्ड अपने नाम किया।

सुमित मलिक –  रोहतक के पहलवान सुमित मलिक ने राष्ट्रमंडल खेलों में पुरूषों के 125 किलो फ्रीस्टाइल वर्ग में स्वर्ण जीता है, नाइजीरिया के उनके प्रतिद्वंद्वी सिनिवी बोल्टिक चोट के कारण मुकाबले में उतर नहीं सके। इसलिए सुमित बिना फाइनल मुकाबले को लड़े ही गोल्ड के हकदार बने।

मौसम खत्री –  सोनीपत के मौसम खत्री ने 97 किलो भारवर्ग स्पर्धा में सिल्वर मेडल पर कब्जा किया है। उन्होंने 2010 एशियाई खेलों में कांस्य जीता था और 2009 एवं 2011 में दो बार राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप जीत दर्ज की थी। उन्होंने साथ ही पिछले साल जोहानिसबर्ग में हुए राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था। मौसम देश के सबसे बड़े एक करोड़ के दंगल को दो बार जीत चुके हैं।

संजीव राजपूत –  यमुनानगर के सजींव राजपूत ने पुरुषों की 50 मी. राइफल थ्री पोजीशन में सटीक निशाना साधते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। संजीव ने बेलमोंट शूटिंग सेंटर पर कुल 454.5 का स्कोर करते हुए गेम रिकार्ड के साथ गोल्ड हासिल किया। इसी स्पर्धा में भारत के चैन सिंह को पांचवां स्थान मिला है।

अमित पंघाल – रोहतक के 22 वर्षिय बॉक्सर अमित पंघाल ने मुक्केबाजी के 46-49 किलो भारवर्ग स्पर्धा में सिल्वर मेडल पर कब्जा किया।

मनीष कौशिक – भिवानी के बॉक्सर मनीष कौशिक ने मुक्केबाजी के  60 किलो भारवर्ग स्पर्धा में सिल्वर अपने नाम कर प्रदेश का नाम रोशन किया।

नमन तंवर – भिवानी के बॉक्सर नमन तंवर ने मुक्केबाजी के 91 किलो भारवर्ग स्पर्धा में ब्रोंज हासिल किया।

साक्षी मलिक – रोहतक के मोखरा गांव की साक्षी मलिक ने कुश्ती में 62 किलो भारवर्ग स्पर्धा में ब्रोंज अपने नाम किया। 2014 ग्लासको कॉमनवेल्थ गेम्स में साक्षी सिल्वर मेडल लेकर आई थी। एशियन चैंपिनशिप में भी गोल्ड जीत चुकी है। एशियन जूनियर चैंपियनशिप भी गोल्ड विजेता खिलाड़ी है।

सोमवीर कादियान – रोहतक के पहलवान सोमवीर कादियान ने कुश्ती में 86 किलो भारवर्ग स्पर्धा में ब्रोंज अपने किया।

सुशील कुमार – सुशील कुमार ने 21 वें कॉमनवेल्थ गेम्स की कुश्ती प्रतियोगिता में में गोल्ड जीता है। पहलवान सुशील कुमार ने महज 10 सेकंड में ही अपने चिर प्रतिद्वदी को चित करते हुए देश के लिए गोल्ड जीता है।

साइना नेहवाल – स्टार सायना नेहवाल की अगुवाई में भारत ने पांचवें दिन भारत के सोने के तमगों में इजाफा करते हुए 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के बैटमिंटन की टीम स्पर्धा के स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया. भारत ने मलेशिया को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया साइना का जन्म हिसार में हुआ था।

मनु भाकर – मनु ने 10 मी. एयर शुटिंग में झज्जर की 16 साल की मनु भाकर ने गोल्ड जीता है। हरियाणा के झज्जर की रहने वाली मनु भाकर ने पिछले महीने मेक्सिको में हुई इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (आईएसएसएफ) विश्वकप निशानेबाजी में 2 गोल्ड जीते थे। महज 16 साल की उम्र में वर्ल्ड चैम्पियन बनने वाली वह पहली शूटर हैं।

अनीश भनवाला– युवा निशानेबाज अनीश भानवाल ने कॉमनवेल्थ गेम्स के 9वें दिन पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। अनीश ने कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रथम प्रवेश के साथ ही स्वर्ण पदक जीता और साथ ही इन खेलों का नया रिकॉर्ड भी बनाया है।अनीश भनवाला सबसे कम उम्र में गोल्ड जीतने वाले देश के पहले खिलाड़ी बन गए हैं।

बजरंग पूनिया – झज्जर के बजरंग पूनिया ने कुश्ती की 65 किलो की कैटेगिरी में जीता गोल्ड। बजरंग ने पुरुषों की 65 किलोग्राम ईवेंट के फाइनल में वेल्स के केन चारिग को 10-1 से हराकर गोल्ड हांसिल किया। यह उनके कॉमनवेल्थ गेम्स का पहला गोल्ड मेडल है। साल 2014 में बजरंग ने ग्लास्गो में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में 61 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा करते हुए रजत पदक जीता था। इस बार बजरंग अपनी मेहनत और लगन से कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने पदक के रंग को सिल्वर से गोल्ड में बदलने में कामयाब रहे।

सीमा पूनिया – सोनीपत की सीमा पूनिया ने शॉर्टपुट में सिल्वर मेडल जीता है। पिछले चार कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल प्राप्त कर चुकी है। सीमा ने साल 2006 से अब तक हुए चारों कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार मेडल जीते हैं। सीमा पूनिया ने 2006 कॉमनवेल्थ में सिल्वर मेडल, 2010 में ब्रॉन्ज मेडल, 2014 में सिल्वर और इस बार चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ में सिल्वर जीता है।

बबीता फोगाट – भिवानी की बबीता ने कुश्ती में सिल्वर मेडल जीतकर देश का मान बढ़ाया है। डायना ने 5-2 से स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया और बबीता को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। बबीता कुमारी फौगाट एक ऐसे क्षेत्र से आती है, जहां पर महिलाओं को बाहर निकलने पर भी कभी पाबंदी होती थी, लेकिन इन छोरियों ने तो सब मिथकों को तोड़कर दंगल शुरु कर दिया था।

पूजा ढांडा – हिसार की पहलवान पूजा ढांडा ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में महिलाओं की 57 किलोग्राम स्पर्धा के फाइनल में गोल्ड मेडल हासिल करने से चूक गईं। पूजा को फाइनल में नाईजीरिया की ओडुनायो अडेकुओरोये ने 7-5 से मात देकर गोल्ड जीता और भारतीय महिला पहलवान पूजा ढांडा को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा।

किरण गोदारा – हिसार की किरण गोदारा ने कुश्ती 76 किलो कैटेगिरी में कांस्य पदक जीता है। किरण गोदारा ने अपनी प्रतिद्वंदी खिलाड़ी मॉरिशस की पहलवान को चित किया है।भारतीय खिलाड़ी मेडल टैली में अब तक तीसरे स्थान पर बने हुए हैं।

अंकुर मित्तल – भारत के 26 वर्षीय निशानेबाज अंकुर मित्तल ने 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में बुधवार को सातवें दिन पुरुषों की डबल ट्रैप स्पर्धा का ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। अंकुर ने 53 अंक हासिल करते हुए और तीसरा स्थान हासिल कर ब्रॉन्ज मेडल जीता। अंकुर शूटिंग के खिलाड़ी हैं।

मनोज कुमार – पुडंरी के राजौंद के बॉक्सर मनोज में 69 कैटेगिरी में कांस्य पदक जीता है। मनोज कुमार सेमीफाइनल में हार कर बाहर हो गए हैं। मनोज को पुरुषों की 69 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा है और इसी के साथ गोल्ड मेडल का यह दावेदार ब्रॉन्ज तक ही सीमित रह गया ।

दीपक लाठर – हरियाणा के वेट लिफ्टर दीपक लाठेर 69 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक जीत कर राष्ट्रमंडल खेलों में देश के लिए पदक जीतने वाले सबसे युवा वेट लिफ्टिर बन गए। राष्ट्रमंडल खेलों में पदार्पण कर रहे हरियाणा के 18 साल के लाठेर 295 किग्रा, 136 किग्रा 159 किग्री  का भार उठाकर तीसरे स्थान पर रहे और देश के लिए कांस्य पदक जीता।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *