पंचकूला के मोरनी में हुआ गैंगरेप, 40 लोगों ने 22 साल की युवती से किया 4 दिन तक गैंगरेप

Breaking अनहोनी बड़ी ख़बरें हरियाणा

Umang Sheoran, Yuva Haryana

Panchkula

पंचकूला के मोरनी इलाके में गैंगरेप मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। जहां तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है वहीं महिला थाने की एसआई और मोरनी थाना इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया गया है। इसकी पुष्टि डीसीपी रजिदर मीणा ने दी ।

इस  मामले में डीसी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पीड़िता को आरोपी सनी मनीमाजरा से लेकर गया था. जिसके बाद अब केस को चंडीगढ़ के मनीमाजरा से ट्रांसफर कर पंचकूला महिला थाना सेक्टर 5 में जांच के लिए भेज दिया है। अब महिला थाने की पुलिस इस मामले की जांच करेगी।

वहीं इस मामले में पुलिस कर्मियों के भी गैंगरेप में आरोप लगने के बाद डीसीपी ने कहा कि पीड़िता के मुताबिक कुछ लोग खुद को पुलिसवाले बता रहे थे, उनकी भी जांच की जा रही है।

पंचकूला के मोरनी इलाके में गैंगरेप का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां हैवानियत की सारी हदें पार कर 40 लोगों ने चंडीगढ़ निवासी 22 साल की युवती को बंधक बनाकर गैंगरेप किया। घटना मोरनी स्थित गांव कैंबवाला के एक गेस्ट हाउस में हुई। एक के बाद एक दरिंदे ने पीडि़ता के साथ गैंगरेप किया।

 

यह सिलसिला चार दिन तक जारी रहा। इस बीच पीडि़ता ने अपने पति को फोन करने की भी कोशिश की लेकिन होटल संचालक आरोपी सुनील कुमार उर्फ सन्नी ने उसका मोबाइल छीन लिया। चार दिन बाद किसी तरह जान बचाकर पीडि़ता गेस्ट हाउस से बाहर आई और अपने पति को कॉल कर घटना की जानकारी दी।

पति-पत्नी मदद के पंचकूला पुलिस के पास गए तो उन्होंने बिना कारवाई किए चंडीगढ़ के मनीमाजरा थाने में भेज दिया। थाने में उन्हें एसएचओ इंस्पेक्टर रणजीत सिंह मिले। जिन्होंने पीडि़ता से पूरे मामले के बारे में पूछताछ की और पीडि़ता का मेडिकल करवाकर एफआईआर दर्ज कर दी। मेडिकल में महिला के साथ घटना होने की पुष्टि हुई है। वहीं पुलिस ने वीरवार को पीडि़ता के कोर्ट में 164 के ब्यान दर्ज करवाए।

 

 

मामले में मनीमाजरा थाना पुलिस ने गेस्ट हाउस के संचालक सुनील कुमार उर्फ सन्नी व अन्य के खिलाफ गैंगरेप व अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी सन्नी व एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। सूत्रों की माने तो इस मामले को पंचकूला पुलिस के पास ट्रांसफर किया जा रहा है।

बता दें कि पीडि़ता ने चंडीगढ़ के मनीमाजरा थाने को दी शिकायत में बताया कि उसका पति चंडीगढ़ में टेलर का काम करता है। गेस्ट हाउस का संचालक आरोपी सन्नी पीडि़ता के पति को एक बार किसी व्यक्ति के जरिए मिला था। इस दौरान पीड़ित महिला को नौकरी लगवाने के लिए सन्नी की उसके पति से बात हुई। उसने पीडि़ता के पति को कहा कि वह उसकी पत्नी को अपने फार्म हाउस पर साफ-सफाई की नोकरी दे देगा।

https://youtu.be/GLAji-EjDVo

इसकी बदले में उसे प्रति माह 12 हजार रुपये देने की बात की। पति अपनी पत्नी को नौकरी पर भेजने के लिए राजी हो गया। रविवार दोपहर वह अपनी पत्नी को मोटरसाइकिल पर लेकर रामगढ़ ले गया। जहां पुल के नीचे सफेद रंग की ऑल्टो कार खड़ी थी, जिसमें सन्नी बैठा हुआ था। सन्नी वहां से उसकी पत्नी को बिठाकर मोरनी के जंगलों के बीच गांव कैंबवाला स्थित लवली गेस्ट हाउस में ले गया, जिसे आरोपी फार्म हाउस बता रहा था।

गेस्ट हाउस में जाने के बाद आरोपी ने उसे नशे की दवाई दे दी और एक कमरे में बंद कर दिया। जब युवती को होश आया तो उसने अपने पति को कॉल करनी चाही, लेकिन सन्नी ने उसका मोबाइल फोन झपट लिया। जिसके बाद उसे नशे की दवाई दी जाती रही और सन्नी खुद भी और अपने साथियों से  पीड़ित का रेप करवाता रहा।

शनिवार से बुधवार तक उसके साथ लगभग 40 लोगों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। एक दिन में 10 लोग रेप करते थे। बताया जा रहा है कि इस घटना में हरियाणा पुलिस के जवान भी शामिल है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *