हरियाणा के हेल्थ डिपार्टमेंट को मिले 5 अवॉर्ड, क्या इतने अच्छे हैं हमारे सरकारी अस्पताल ?

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

प्रदेश के मरीजों को उत्कृष्ट चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध करवाने और उनके लक्षित परिणाम प्राप्त होने पर स्वास्थ्य विभाग को विभिन्न 5 पुरस्कारों से नवाजा गया है। ये पुरस्कार राष्ट्र स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं पर काम कर रही संस्थाओं द्वारा दिये गये है।
यह आश्चर्यजनक है कि जिस दौर में राज्य के सरकारी अस्पतालों में दवाओं और डॉक्टरों की भारी कमी महसूस की जा रही है, उस वक्त सरकार कुछ संस्थाओं द्वारा दिए गए अवॉर्ड पर अपनी पीठ थपथपा रही है। आम लोग अब सरकारी अस्पतालों को रैफर प्वाइंट बताने लगे हैं जबकि सरकार की नज़र में सबकुछ शानदार चल रहा है।
खुद स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया है कि 2 पुरस्कार हरियाणा चिकित्सा सेवा निगम द्वारा दी गई सेवाओं के लिए दिये गए है, जबकि 3 पुरस्कार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के पैरामीटर के सुधार होने पर दिये है।
स्वास्थ्य सेवाओं की उत्कृष्ट शुरूआत के लिए विभाग को स्कोच गोल्ड अवार्ड से पुरस्कृत किया गया है। यह पुरस्कार मिशन निदेशक अमनीत पी कुमार ने दिल्ली में ग्रहण किये। इसी प्रकार मातृ स्वास्थ्य देखभाल तथा डिजिटल स्वास्थ्य में नई शुरूआत करने के लिए ‘स्कोच आर्डर ऑफ मेरिट अवार्ड’ से नवाजा गया है।

हरियाणा का सरकारी अस्पतालों में बहुत सुधार की ज़रूरत है। अवॉर्ड गुणवत्ता का सही पैमाना नज़र नहीं आ रहे।

विभाग ने प्रदेश में मातृ मृत्यु दर को कम करने के लिए जीरो होम डिलिवरी अभियान चलाया है, जिसकी प्रशंसा की गई।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इसके अलावा कंप्यूटर सोसाएटी ऑफ इंडिया द्वारा कलकता में आयोजित एक समारोह में हरियाणा चिकित्सा सेवा निगम को राज्य के विभिन्न भागों में दवाई की सहज उपलब्धता के लिए वेयर हाऊसिज को ऑनलाइन करने पर पुरस्कृत किया गया।
इसी प्रकार इंडियन एक्सप्रैस द्वारा मरीजों को सस्ती और अच्छी दवाइयों की उपलब्धता करवाने सहित पूर्ण उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए पुणे में आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा को पब्लिक हेल्थ अवार्ड-2018 पुरस्कार से नवाजा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *