हिरासत में हुई थी युवक की मौत, 5 आरपीएफ कर्मियों को कैद , 21 हजार जुर्माना

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Fatehabad, 2 April, 2019

फतेहाबाद में पुलिस कस्टडी में युवक से मारपीट के बाद मौत के मामले में अदालत ने जीआरपी पुलिस चौकी जाखल के तत्कालीन 5 पुलिस कर्मचारियों को दोषी करार देते हुए 5 साल कैद और 21-21 हजार रुपए जुर्माना लगाया है।

जानकारी मुताबिक मृतक दलबीर सिंह के भाई जींद जिले के निवासी शमशेर सिंह की याचिका पर टोहाना के न्यायिक दंडाधिकारी अमित सिहाग ने 5 मार्च 2014 को जीआरपी पुलिस चौकी जाखल में तैनात एएसआई राजेंद्र कुमार, ईएएसआई श्रीराम, ईएचसी रणबीर सिंह, कांस्टेबल राम भट्ट व ईएचसी विजय सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

मृतक के भाई शमशेर सिंह ने बताया था कि उसका भाई दलबीर सिंह 15 मार्च 2008 को ब्यास डेरा में गया था। वह जाखल रेलवे स्टेशन से ट्रेन में चढ़ा था। 18 मई 2008 को आरोपी रणबीर सिंह उसके घर आया और उसे रोहतक पीजीआई ले गया, जहां उसका भाई दाखिल था।

जब वह रोहतक पीजीआई गया तो उसके भाई के शरीर पर चोटों के निशान थे। 20 मई को उसने दम तोड़ दिया। उसे पता चला कि 16 मई 2008 को जीआरपी जाखल ने उसके भाई के खिलाफ झूठा केस दर्ज किया था और उसकी लाठियों से पिटाई की थी। अदालत ने 5 पुलिसकर्मियों को दोषी करार देते हुए 5 साल की कैद और 21-21 हजार रुपए जुर्माना लगाया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *