Home Breaking दिल्ली के व्यापारी को हरियाणा के 6 पुलिसकर्मियों ने लूटा, तीन को किया गया संस्पेड

दिल्ली के व्यापारी को हरियाणा के 6 पुलिसकर्मियों ने लूटा, तीन को किया गया संस्पेड

0
0Shares

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Delhi, 23 Nov, 2018

हरियाणा के 6 पुलिसकर्मियों की एक शर्मनाक करतूत सामने आई है। बहादुरगढ़ के स्पेशल टास्क फोर्स (STF) के इन छह पुलिसकर्मियों ने दिल्ली के व्यवसायी को बंधक बनाकर उससे 22 लाख की लूट को अंजाम दिया है। इतना ही नहीं इन आरोपी पुलिसकर्मियो ने व्यवसायी से बदसलूकी, मारपीट और गाली-गलोच भी की।

जिसके बाद तीन आरोपियों को सस्पेंड कर दिया गया है। पहले पुलिस द्वारा मामला दर्ज नहीं किया गया था। लेकिन पीड़ित द्वारा गृह मंत्री को गुहार लगाने व मंत्रालय से पुलिस आयुक्त अमूलय पटनायक को निर्देश मिलने के बाद मध्य जिला के रंजीत नगर थाने में अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ अपहरण, फिरौती वसूलने, डकैती की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

बताया जा रहा है कि रोहिणी निवासी पीड़ित संजीव कुमार अपने परिवार के साथ हैदराबाद रहते हैं, जहां उनका इलेक्ट्रानिक वस्तुओं का व्यापार है। 31 अक्तूबर की शाम वह पैसे कलेक्ट करने एक्शन होम प्रोडक्शन, वेस्ट पटेलनगर आए थे। उनके साथ तीन और कारोबारी जतिन, रानोदेव और नीरज थे। तीनों पैसे लेकर ओला कैब में बैठने लगे कि अचानक एक बोलेरो में सवार तीन पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक लिया।

आरोपी पुलिसकर्मियों ने उन्हें कैब से खींचकर बोलेरो में बैठा लिया और वहां से निकल गए। रास्ते में उनकी जमकर पिटाई की, गाली-गलोच की और आंखों में पट्टी बांधकर वहां से बहादुरगढ़ के किसी ऑफिस में ले गए। जहां व्यपारियों से 9.50 लाख छीन लिए और 20.50 लाख रुपये की मांग की गई। आरोपियों ने रिवाल्वर दिखाकर जान से मारने की धमकी भी दी।

देर रात करीब 11 बजे पुलिसकर्मी व्यपारियों को गाड़ी में डालकर रोहिणी स्थित सचिन अरोड़ा के पास ले आए, सचिन पीड़ित संजीव अरोड़ा के दोस्त हैं। वहां पुलिसकर्मी संजीव पर दवाब बनाने लगे कि वह सचिन से पैसे की मांग करे। जिसके बाद सचिन ने पुलिसकर्मी के अकाउंट में 9.50 लाख रुपये डाल दिए।

इसके बाद आरोपी पुलिसकर्मी व्यपरियों को एक मॉल में ले गए और उनके डैबिट कार्ड से 3 लाख की शॉपिंग भी की। कुछ पुलिसकर्मी रानोदेव को लेकर उनके घर आ गए और वहां से 5 नोकिया के फोन और पांच हाथ की घड़ियां भी ले ली। बाद में रात करीब 12 बजे उन्हें रोहिणी स्थित एमटूके मॉल के पास छोड़कर फरार हो गए।

जिसके बाद पीड़ितों ने थाने जाकर इसकी शिकायत भी दी, लेकिन वहां से उन्हें यह कहकर भगा दिया कि आपस में समझौता कर लो। जिसके बाद पीड़ित ने गृह मंत्री को न्याय की गुहार लगाई और फिर मामला दर्ज किया गया।

हालांकि अभी किसी भी पुलिसकर्मी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, लेकिन बहादुरगढ़ पुलिस ने एएसआई संदीप, कॉन्स्टेबल लोकेश और प्रमोद को सस्पेंड कर दिया है।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

NRI होटल में बुलाई जाती थी चंडीगढ़ से लड़कियां, पुलिस ने छापेमारी में 5 युवतियों समेत 12 को दबोचा

Yuva Haryana News Ambala, 7 August, 2020 अंबाला प…