अति संरक्षित प्रजाति के 63 कछुओं के साथ गिरफ्तार तस्कर ने किया खुलासा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Panipat, 7 July 2019

पिछले सप्ताह वन्य प्राणी निरीक्षक और पानीपत सीआईए टू ने अति संरक्षित प्रजाति के कछुओं की तस्करी करते हुए एक तस्कर को 63 कछुओं के साथ पानीपत से गिरफ्तार किया था। पुलिस की गिरफ्त में बरेली के तस्कर ने अब एक बड़ा खुलासा किया है। पूछताछ के दौरान पता चला है कि आरोपी विश्वबंधु शर्मा अब तक देश- विदेश में 1300 से ज्यादा कछुए 2 से 3 हजार रुपए में बेच चुका है।

आरोपी ने बताया कि हरियाणा के विभिन्न जिलों के अलावा थाइलैंड, मलयेशिया और चाइना में इनकी मांग ज्यादा है। इस मामले में आरोपी के खिलाफ वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन 1972 की धारा 9, 31, 39, 44 और 49 के तहत पानीपत में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी के पास से बरामद किए गए कछुओं में इंडियन रुफ टरटल, इंडियन टेंट टरटल और रुफ स्पोटेड पॉड टेरटल जैसे तीन प्रजाति के कछुए शामिल हैं।

वहींं इस मामले में मंडलीय वन्य प्राणी अधिकारी राेहतक दीपक अलावादी ने बताया कि पानीपत की सीआईए टू की टीम ने कछुआ तस्कर को पकड़ने का प्लान तैयार किया। इसके लिए पुलिस की टीम असंध रोड लालबत्ती चौक पर मौजूद थी। जहां काला थैला लिए पहुंचने वाले एक संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा गया।

तालाशी के दौरान उस व्यक्ति से 63 कछुए बरामद हुए। आरोपी ने बताया कि उसने एक हजार रुपए प्रति कछुआ की दर से बरेली से 65 हजार रुपए में 65 कछुओं की खरीद की और वह बिचौलिए के पास पानीपत आया हुआ था। मामला दर्ज कर पुलिस ने एक जुलाई को विश्व बंधु शर्मा को अदालत में पेश किया था। जिसके बाद टीम ने आरोपी विश्वबंधु शर्मा को 10 दिन के रिमांड पर लिया है।

इसके साथ ही दीपक अलावादी ने यह भी कहा कि आरोपी अब तक 1300 कछुए बेच चुका है। उसके पास इतने कछुए कहां से आए। कौन-कौन लोग उसके गिरोह में शामिल हैं, जैसे सवालों पर पुलिस व वन्य प्राणी विभाग की टीम पड़ताल कर रही है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *