88 अविवाहित लड़कियों को गर्भवती बताकर 4.25 लाख का फर्जीवाड़ा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana 

Rohtak, 28 June 2019

रोहतक के कलानौर ब्लॉक से अविवाहित युवतियों को गर्भवती बताकर प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत सरकारी खजाने से लगभग 4.25 लाख रुपए का फर्जीवाड़ा सामने आया है। यहां करीब 88 महिलाओं के फर्जी अकाउंट बनाकर सरकारी खजाने से पैसे निकाल लिए गए।

4.25 लाख के इस फर्जीवाड़े का आरोप महिला एवं बाल विकास विभाग के ब्लॉक कार्यालय में लगे एक आउटसोर्स क्लर्क और अप्रेंटिस करने वाली एक लड़की पर लगा है। महिला एवं बाल विकास विभाग में आउटसोर्स के आधार पर कलानौर निवासी सचिन को 29 नवंबर 2017 को तैनात किया गया था।

जबकि पुष्पा को अप्रेंटिसशिप पर 23 फरवरी 2018 में रखा गया था। यहां पर इस योजना के दस्तावेजों को अपलोड करने का काम इनके जिम्मे था और वेबसाइट में लॉग-इन का पासवर्ड भी इनके पास ही था। फर्जीवाड़े के दौरान सचिन और पुष्पा दोनों ने मिलकर कई लोगों के नाम पर फर्जी अकाउंट बनाए।

उन दोनों ने ऐसे लोगों के नाम पर भी फर्जी अकाउंट बनाकर राशि निकाल ली, जो इस योजना के काबिल ही नहीं थे। क्योकिं इस योजना का लाभ सिर्फ गर्भवती महिलाओं को ही मिलना था। तो ऐसे में पुष्पा और सचिन ने कई अविवाहित लड़कियों के दस्तावेजो से फर्जी अकाउंट बनाकर सरकारी खजाने से राशि निकाल ली। फिलहाल इस मामले में क्लर्क सचिन और अप्रेंटिस पर लगी पुष्पा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उनसे 4.23 लाख रुपए बरामद किए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *