हुडा अधिकारियों की बड़ी लापरवाही आई सामने, बिना मकान खाली कराए ही मकान में की तोड़फोड़

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Manu Mehta, Yuva Haryana

Gurugram, 9 Jan, 2019

साइबर सिटी गुरुग्राम में हुडा विभाग के अधिकारियों की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। घटना गुरुग्राम के खांडसा गांव की है, जहां पर बादशाहपुर ट्रेन के रास्ते में बने मकानों को तोड़ते समय एक बड़ी लापरवाही बरती गई है। दरअसल, मकान तोड़ते समय हुडा विभाग ने मकानों को खाली ही नहीं कराया और जेसीबी चला दी।

जिस कारण एक पूरा परिवार खत्म हो सकता था। बता दें कि बादशाहपुर ट्रेन के रास्ते में कब्जा करके बनाए गए इन मकानों को तोड़ने का जिम्मा हुडा विभाग के अधिकारियों का था। बुधवार को हुडा विभाग के अधिकारी अपने दल बल के साथ इन मकानों को तोड़ने के लिए पहुंचे, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही का आलम इस कदर था कि उन्होंने मकानों को तोड़ने से पहले इन्हें खाली भी नहीं कराया, जब मकान पर जेसीबी मशीनें चलने लगी, तो अंदर से बच्चे बूढ़े और महिलाएं अपनी जान बचाकर बाहर भागने लगे।

जब हुडा विभाग के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर से इस लापरवाही के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस बात से साफ इंकार कर दिया कि पहले मकानों को खाली कराया गया है, उसके बाद मकानों पर जेसीबी मशीन चलाई गई है। दरअसल, साल 2016 में गुरुग्राम में आई जबरदस्त बारिश के बाद महा जाम की स्थिति पैदा हो गई थी, जिसका कारण बादशाहपुर ड्रेन पर अवैध कब्जे किए गए थे। इसलिए हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया था कि बादशाहपुर ड्रेन पर किए गए अवैध कब्जों को हटाया जाएगा और ड्रेन को दोबारा स्थापित किया जाएगा ।

सरकारी जमीनों पर किए गए अवैध कब से हटाना सरकारी अधिकारियों का दायित्व तो जरूर बनता है, लेकिन इस तरह की लापरवाही को जस्टिफाई नहीं किया जा सकता। ऐसे में जरूरत है कि जब तक अधिकारी अवैध कब्जे को गिराने से पहले सुनिश्चित कर ले की इमारत के अंदर कोई इंसान तो मौजूद नहीं है ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *