29.2 C
Haryana
Sunday, September 27, 2020

प्रदेश कर्जे में डूबा है और मुख्यमंत्री ने अपने सारे स्टाफ की सैलरी मनचाही बढ़ा ली, माफी मांगकर फैसला वापिस ले CM-अभय चौटाला

Must read

मोदी सरकार को झटका, पुराने साथी अकाली दल ने कृषि कानूनों के विरोध में गठबंधन तोड़ा

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September देश में नए कृषि कानूनों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इन कानूनों को लेकर भारतीय...

प्रदेश में आज कोरोना के 1689 नए केस, तेजी से बढ़ी रिकवरी रेट, देखें Medical Bulletin 

Yuva Haryana News Chandigarh, 26 September, 2020 हरियाणा में अब कोरोना के रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। हरियाणा के दस हजार से ज्यादा लोगों...

हरियाणा पुलिस का बड़ा कारनामा, गाड़ी में हैलमेट नहीं पहना तो काट दिया चालान 

Yuva Haryana News Panipat, 26 September, 2020 हरियाणा पुलिस पहले भी अपने कारनामों को लेकर अक्सर विवादों में रहती है। अब पानीपत से पुलिस का एक और...

राजनीतिक नियुक्तियों पर मुख्यमंत्री ने की भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बातचीत, मंत्रिमंडल विस्तार अभी नहीं

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार शाम दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से विशेष मुलाकात की...
हाल ही में मुख्यमंत्री के ओएसडी समेत कई निजी स्टाफ सदस्यों की तनख्वाह बढ़ाए जाने की विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने कड़ी निंदा की है और मुख्यमंत्री से इसे तुरंत कैंसल करने की मांग की है।
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यह सरकारी पैसे का दुरुपयोग है और जब प्रदेश कर्ज के बोझ में दबा पड़ा है ऐसे समय में अपने चहेतों में जनता की खून पसीने की कमाई की बंदरबांट अशोभनीय है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता से माफी मांगते हुए मुख्यमंत्री को नैतिकता के आधार पर यह फैसला तुरंत प्रभाव से वापिस लेना चाहिए।
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जिन लोगों का वेतन बढ़ाया गया है उनकी नियुक्तियों का कोई आधार नहीं है। सरकार ने इन्हें पिक एंड चूज़ की पॉलिसी के तहत नियुक्त किया है। इनकी नियुक्तियां किसी भी संवैधानिक प्रक्रिया से नहीं हुई हैं और न इन नियुक्तियों का आधार योग्यता है तो वेतन वृद्धि का फैसला सरासर गलत है। अभय के अनुसार यह केवल मुख्यमंत्री के खास लोगों को आर्थिक लाभ देने का मामला है।
नेता विपक्ष ने आगे यह भी कहा कि भाजपा सरकार की जयंतियों, महोत्सवों और समागमों पर की गई फिजूलखर्ची की वजह से ही प्रदेश कर्जदार हुआ है। आज प्रदेश पर लगभग 1 लाख 62 हज़ार करोड़ का कर्ज है जिसमे 90226 करोड़ केवल साढ़े तीन साल के भाजपा राज में लिया गया है। उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में विकास कार्य ठप पड़े हैं तो सरकार ने इतना कर्ज क्यों लिया और वो पैसा कहां खर्च हुआ, यह जांच का विषय है। सरकार को इस मामले पर श्वेत पत्र पेश करना चाहिए।
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि भाजपा राज में युवा बेरोजगार है, अनुबंधित आधार पर काम कर रहे कर्मचारी वेतन वृद्धि की मांगों को लेकर सड़कों पर है और किसान को सरकार की गलत नीतियों के चलते फसलों के पूरे दाम नहीं मिल रहे हैं। ऐसे हालात में करदाताओं के पैसे का इतने बड़े पैमाने पर दुरुपयोग और फिजूलखर्ची निंदनीय है।

More articles

Latest article

मोदी सरकार को झटका, पुराने साथी अकाली दल ने कृषि कानूनों के विरोध में गठबंधन तोड़ा

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September देश में नए कृषि कानूनों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इन कानूनों को लेकर भारतीय...

प्रदेश में आज कोरोना के 1689 नए केस, तेजी से बढ़ी रिकवरी रेट, देखें Medical Bulletin 

Yuva Haryana News Chandigarh, 26 September, 2020 हरियाणा में अब कोरोना के रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। हरियाणा के दस हजार से ज्यादा लोगों...

हरियाणा पुलिस का बड़ा कारनामा, गाड़ी में हैलमेट नहीं पहना तो काट दिया चालान 

Yuva Haryana News Panipat, 26 September, 2020 हरियाणा पुलिस पहले भी अपने कारनामों को लेकर अक्सर विवादों में रहती है। अब पानीपत से पुलिस का एक और...

राजनीतिक नियुक्तियों पर मुख्यमंत्री ने की भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बातचीत, मंत्रिमंडल विस्तार अभी नहीं

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार शाम दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से विशेष मुलाकात की...

Corona virus है या फ्लू सर्दियों,  ये 2 बड़े लक्षण बताएंगे फर्क

Yuva Haryana News Chandigarh , 26 September, 2020 सर्दी और बरसात में हमें अक्सर जुखाम हो जाता है। कई बार तो हम इस बीमारी से 4-5...