नशे के कारोबारियों के नाम की लिस्ट में अनिल विज को दूंगा- अभय चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana, Sirsa
सिरसा सहित हरियाणा में नशे का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। देश के पीएम नरेंद्र मोदी तथा हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने खुद इस बात तो माना था कि सिरसा में नशा बढ़ रहा है, मगर हैरानी की बात है कि इसके बावजूद भी नशे पर अंकुश लगाने के प्रति सरकार कोई रूचि नहीं दिखा रही है। इसके पीछे प्रमुख वजह यह है कि नशे के कारोबार में खुद भाजपा के नेता ही संलिप्त हैं। यह बात ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सोमवार को सिरसा में डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए कही। उनके साथ युवा इनेलो नेता कर्ण चौटाला सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।
इनेलो नेता ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान 19 अक्टूबर को पीएम मोदी हलका ऐलनाबद के गांव मल्लेका में रैली को सम्बोधित करने आए थे। रैली में उन्होंने स्वयं कहा था कि हरियाणा में नशे का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है और यहां के लोग नशे से काफी पीडि़त है जबकि सीएम मनोहर लाल ने भी इस बात को माना कि सिरसा सहित हरियाणा नशे की चपेट में है और उन्होंने घोषणा की थी कि तीन चार राज्यों के अधिकारियों की मीटिंग बुलाकर वह इस पर अंकुश लगाएंगे और इनका हैड क्वार्टर पंचकूला में स्थापित किया जाएगा।
सीएम ने केवल दो ही बैठकें बुलाई उसके बाद मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। उन्होंने कहा कि इस विषय को लेकर सीएम मनोहर लाल तथा हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को भी पत्र लिखा है तथा 27 दिसंबर को जब विज सिरसा आएंगे तो सिरसा की पंचायतों से प्रस्ताव लेकर मैं विज को दूंगा तथा विज को मैं उन व्यक्तियों के नाम बताऊंगा जो नशे के कारोबार में लिप्त हैं।
इनेलो विधायक ने सरकार पर सिरसा से बिजली के मामले में भेदभाव अपनाने की बात कहते हुए कहा कि सरकार उन लोगों को 24 घंटे बिजली नहीं देती जो पूरा बिल अदा करते हैं तथा न ही नए ट्यूबवेल के कनेक्शन देती है। जबकि ऐलनाबाद, नाथूसरी चोपटा व रानिया के गांवों को डार्क जोन घोषित किया गया है जबकि वहां पर चार-पांच फीट तक पानी है। उन्होंने कहा कि चोपटा क्षेत्र के अंदर कुछ गांव सेमग्रस्त है, वहां के किसान ट्यूबवेल लगवाना चाहते हैं ताकि सेम का पानी निकाल सके लेकिन सरकार उन्हें ट्यूबवेल लगाने इजाजत नहीं दे रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *