अभय चौटाला का बीजेपी सरकार पर हमला, बोले- ‘इनके मुंह में राम, बगल में कुर्सी’

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana
Chandigarh, 25 July, 2018

चंडीगढ़ में आज नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने बीजेपी सरकार को कई मुद्दों पर घेरने की कोशिश की। इस दौरान उन्होने रायपुररानी के पास जासपुर गांव में बूचड़खाने को लेकर सरकार की तीखी आलोचना की, तो वहीं ओमप्रकाश धनखड़ के बयान को लेकर भी जमकर हमला बोला।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वे किसी भी कीमत पर पंचकूला जिले में रायपुररानी के निकट जासपुर गांव में बूचडख़ाने को स्थापित नहीं होने देंगे। उन्होने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि भाजपा के दो चेहरे हैं जिसमें एक तरफ तो वह हिन्दुत्व और उसके जीवन मूल्यों को बढ़ावा देने की बात की जाती है दूसरी तरफ वह अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए उन्हीं मूल्यों को कुचलने का काम करती है।

इसका ताजा उदाहरण अभी हाल में जासपुर में नजर आता है जहां आसपास की सभी पंचायतों के विरोध के बावजूद सरकार एक बूचडख़ाने को स्थापित करने के लिए अपने चहेतों को सभी हर प्रकार की सहायता प्रदान कर रही है। उन्होंने याद दिलाया कि इस सरकार के कार्यकाल के दौरान विधानसभा में अनेक ऐसे विधेयक पारित किए गए हैं जिनका उद्देश्य बीफ उद्योग पर अंकुश लगाना और जो उसमें संलिप्त पाए जाते हैं उन्हें कठोर दण्ड दिलवाना रहा है। किन्तु इस बूचडख़ाने के स्थापित होने से यह संदेश जाता है कि राज्य सरकार मांस उद्योग को बढ़ावा देने पर तुली हुई है। उन्होने बताया कि बूचड़खाने के मालिक ने बाउंसरों के जरिये ग्रामीणों को धमकाया है।

अभय सिंह चौटाला ने याद दिलाया कि वर्तमान सरकार के शासनकाल में सरकारी संरक्षण में चल रहीं गौशालाओं में सैकड़ों की संख्या में गाय बीमारी और भूख से मौत का शिकार हुई हैं। जो फिर इस सरकार के दूसरे चेहरे को लोगों के समक्ष प्रस्तुत करता है जिससे यह सिद्ध होता है कि ‘ये नकली राम के दुलारे हैं’। वास्तव में यह सत्ता लोभ से पीडि़त लोग हैं जिनका एकमात्र मोह सत्ता है जिस कारण इनके सभी घोषित जीवनमूल्य समय के साथ बदल जाते हैं।

इस दौरान अभय सिंह चौटाला ने कृषि मंत्री ओपी धनखड़ के उस बयान पर भी कड़ी टिप्पणी की जिसमें धनखड़ ने पीएम मोदी को चौधरी चरण सिंह और चौधरी देवीलाल के मुकाबले किसान हितैषी बताया था। इस दौरान अभय चौटाला ने ओपी धनखड़ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि किसानों को फसलों का उचित भाव दिलवाने में यह सरकार सफल नहीं हो पाई। सच तो यह है कि सरकार न तो कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की सिफारिशों को लागू करवा सकी है और न राज्य द्वारा लागत मूल्य की स्वयं की गई गणना के अनुसार उचित मूल्य दिलवा सकी है। इसलिए कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ द्वारा सडक़ों पर ढोल पीटकर नाचना किसानों के साथ एक भद्दा मजाक है।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आने वाले विधानसभा सत्र में वह राज्य में बढ़ते नशाखोरी, नशीले पदार्थों की बिक्री एवं महिलाओं पर बढ़ते अत्याचारों को एक बड़ा मुद्दा बनाएंगे। उन्होंने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि कानून व्यवस्था की हालत इतनी खस्ता हो चुकी है कि अब इस प्रदेश में छह वर्ष की बच्ची से लेकर 60 वर्ष तक की महिला बलात्कार का शिकार होने लगी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में वे सभी अपराध जो सुनियोजित ढंग से किए जा रहे हैं उन्हें सरकार का सीधा संरक्षण प्राप्त है।

नेता विपक्ष ने यह भी बताया कि आज ही एक पूर्व HCS अधिकारी सतबीर सिंह सैनी ने चौधरी देवीलाल की नीतियों में विश्वास रखते हुए इंडियन नेशनल लोकदल से एक कार्यकर्ता के रूप में जुड़े हैं। जाहिर है कि राज्य की हर बिरादरी के लोग सभी राजनैतिक दलों के असली चेहरों को पहचान चुके हैं इसी कारण वे छत्तीस बिरादरियों के भाईचारे को बढ़ाने के लिए इनेलो में शामिल हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *