विश्राम गृहों में ठहरते हैं नेता और अधिकारी, किसानों को नहीं मिलता कमरा- अभय

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 15 Dec, 2019

कृषि मंत्री जे पी दलाल के ब्यान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इनेलो के वरिष्ठ नेता और ऐलनाबाद से विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मंडी बोर्ड में क़ेवल कृषि.मौल घोटाला नहीं इससे और भी बडे घोटाले हैं जैसे किसानो के नाम पर बनाए जाने वाले विश्राम गृह, सडक़ों की मरम्मत का घोटाला,  नयी सडक़ों का घोटाला आदि है। विश्राम गृहों में केवल अधिकारी व राजनेता ठहरते हैं किसानो को तो उनके कोई नज़दीक भी नहीं फटकने देता।

इन विश्राम गृहों में हर वर्ष करोड़ों रुपए रख-रखाव पर ख़र्च किए जाते हैं और यह समान कहां जाता है जाँच से पता चल जाएगा। पंचकुला के विश्राम गृहों के आधे से ज़्यादा कमरों पर विधान सभा का क़ब्ज़ा है। इसी तरह हरियाणा में मंडीयों के विश्राम गृहों का हाल है। कृषि मंत्री जी अगर इन घोटालों की जाँच विजिलेंस विभाग से करवाएँगे तो भाजपा के पिछले पाँच वर्षों के सुशासन का शीशा सामने होगा।

किसानों व व्यापारियों की खून पसीने की कमाई को व्यक्तिगत लाभ के लिए बोर्ड के अधिकारियों व राजनेताओं ने खूब लूटा है। मंडी बोर्ड का काम है मंडीयों में किसानो की फ़सल की खऱीदो फऱोख़्त के लिए अच्छे साधन उपलब्ध करवाने और किसानो को फ़सल का अच्छा भाव मिल सके इसके लिए मंडीयों मे कृषि उपज वस्तुओं की बोली करवाना। मंडी बोर्ड का काम नहीं हैं कि वह खुद व्यापार करे।

मुख्यमंत्री जी कहते हैं कि भाजपा ने पिछले पाँच वर्षों में हरियाणा को भ्रष्टाचार मुक्त कर दिया है और इन पाँच वर्षों में ना खाया है ना ख़ाने दिया है। मुख्यमंत्री जी अगर हरियाणा कृषि बोर्ड द्वारा बनाए गए एग्रो मॉल व बोर्ड द्वारा हरियाणा में कराए गए निर्माण कार्यों की जाँच करवाके देखें फिर पता लगेगा की पिछले पाँच वर्षों में अधिकारियों व राजनेताओं ने इसको कितना और कैसे लुटा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *