पुलिस की छतरी के नीचे बेरोक-टोक चल रहा है अवैध खनन का धंधा- अभय सिंह चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

इनेलो नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने हरियाणा में हो रहे अवैध खनन पर सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि अवैध खनन का धंधा पुलिस की छतरी के नीचे बेरोक-टोक चल रहा है। उन्होंने ने कहा कि बड़े दुख की बात है कि एक वरिष्ठ मंत्री अपनी ही सरकार के विभाग की कार्यप्रणाली बारे मीडिया में आरोप लगा कर सरकार के भ्रष्टाचार के ‘जीरो टॉलरेंस’ के दावे की पोल खोल रहा था। मंत्री जी को मजबूर होकर गृह मंत्री को पत्र लिख कर अनुरोध करना पड़ा कि अवैध खनन के धंधे को रोकने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश दे कि वह इसमें मदद करे।
इनेलो नेता ने कहा कि सरकार का यह कहना तो उचित है कि भाजपा ने सरकारी कामकाज में पारदर्शिता लाई है क्योंकि प्रदेश में बगैर किसी डर के मंत्री और अधिकारी अवैध धंधे में प्रदेश को दोनों हाथों से लूटने की कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे। कैग ने भी अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि खनन की वजह से नदी का बहाव भी बदल गया है जिसकी वजह से पानी के कटाव के कारण किसानों की जमीन का कुछ भाग भी पानी में समा गया है। रिपोर्ट में कहा है कि अवैध खनन की वजह से 1476 करोड़ रुपये राजस्व का नुक़सान हुआ है। स्टांप ड्यूटी के 24 करोड़ भी जमा नहीं करवाए और इसके बावजूद ठेकेदारों के खिलाफ गठबंधन सरकार ने तुरंत कोई कार्रवाई नहीं की।
खनन मंत्री का ये भी कहना कि सभी अधिकारियों में खनन विभाग में तबादला करवाने की होड़ लगी है। मंत्री ने कहा कि पंचकूला, यमुनानगर, पानीपत, सोनीपत और भिवानी आदि में सबसे अधिक अवैध खनन होता है। अब सरकार ने दो अन्य एसआईटी भी इस धंधे को बंद करने के लिए बनाई हंै, अर्थात इसमें अब और भी भ्रष्टाचार की भागीदारी बढ़ेगी।
इनेलो नेता ने कहा कि चुनाव से पहले जेजेपी नेता ने चंडीगढ़ में पे्रसवार्ता के दौरान कहा था कि भाजपा का खनन घोटाला राफेल घोटाले से भी बड़ा है और सरकार को इस बारे श्वेत-पत्र जारी करना चाहिए। अब वह भी सरकार में भागीदार है और अब उन्हें भी सब अच्छा  दिखने लगा है और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उनकी भी बोलती बंद हो गई है। प्रदेश में केवल अवैध खनन घोटाला ही नहीं किसी विभाग की फाइल उठा लो सभी में एक से एक बड़ा घोटाला सामने आएगा। अब तो हर जुबान से यही कहावत चरितार्थ हो रही है कि ‘खनन घोटाले में लूट सके तो लूट, फिर पछताएगा जब महकमा जाएगा छूट’।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *