Home Breaking मेरा कोई शुभचिंतक उनसे जाकर बात करो और जो फैसला होगा वो मुझे मान्य होगा- अभय

मेरा कोई शुभचिंतक उनसे जाकर बात करो और जो फैसला होगा वो मुझे मान्य होगा- अभय

0
0Shares

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 14 Nov, 2018

नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि मेरी तरफ से कोई भी जाकर उनसे बात कर सकता है और जो वो बात कहते हैं मुझे मान्य होगी। उन्होने मीडिया के सामने कहा कि जो भी मेरा और पार्टी का जो भी शुभचिंतक है और उनसे जाकर बातचीत करता है मुझे उनका फैसला मान्य होगा।

अभय  सिंह चौटाला ने कहा कि मुझे पार्टी में कोई बड़ा ओहदा नहीं मिला है और मैं हमेशा अंतिम पंक्ति में रहा हूं, मैंने हमेशा नीचे बैठकर पार्टी की गतिविधियों को देखा है और इस प्रकार की कोई परिस्थिति मैंने खड़ी नहीं होने दी थी. जिस वक्त चौटाला साब और अजय सिंह यहां पर राजनीति करते थे उस वक्त में सामने बैठकर सारी बातें सुनता था।

लेकिन जब से चौटाला साब और अजय सिंह जेल में गए हैं तब से कार्यकर्ताओं ने मुझे आगे आने के लिए कहा था तो मैं आगे आया था, आज भी मेरी ऐसी कोई महत्वाकांक्षा नहीं है। आज जो भी वर्कर उनसे जाकर बातचीत करना चाहते हैं तो मुझे हर फैसला मान्य है।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मैंने पार्टी के किसी भी वर्कर को कांग्रेसी या पैड वर्कर नहीं कहा। मैंने उन लोगों के लिए कहा है जो पार्टी को तोड़ने का काम कर रहे हैं। मैं पार्टी के कार्यकर्ताओं का कभी भी मनोबल नहीं गिरने दूंगा और हमे अनुशासित वर्ग के लोगों के साथ ही काम करुंगा।

चौधरी देवीलाल के निधन के बाद से चौटाला साब ने हमेशा सरदार प्रकाश सिंह बादल को दिपावली की शुभकामनाएं देने के लिए जाते हैं, नहीं तो चौटाला साब वहां पर जाते आते रहे हैं। उन्होने इस बार मैं वहां पर गया था उस वक्त प्रकाश सिंह बादल ने मुझे इस बारे में पूछा था और उनके बाद किसी प्रकार की मेरी कोई बात नहीं हुई।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आज सरदार प्रकाश सिंह बादल मुक्तसर में अपने फार्म हाउस पर हैं और इस प्रकार की खबरें ऐसे हो कोई फैला रहा है।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मुझे तो इस बात का भी पता नहीं है कि हमारा झगड़ा किस बात का है और जब झगड़ा ही नहीं है तो सुलह किस बात की है।

अभय चौटाला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की अनदेखी जो सरकार की तरफ से हो रही थी उसकी लड़ाई लड़ रहे थे। गोहाना रैली में तय हुआ था कि एसवाईएल के साथ साथ एक दिसंबर से अधिकार यात्रा शुरू करने हैं।

कर्मचारियों, व्यापारियों, किसानों, युवाओं, ग्रामीण अंचल की बच्चों की अनदेखी को लेकर लड़ाई शुरू करेंगे और लोक सभा व विधान सभा के चुनावों तक जारी रखेंगे। बसपा से भी कल आंदोलन की रूपरेखा के बारे विचार करेंगे।

गोहाना की रैली से लेकर अब तक मीडिया हमारे परिवार पर मेहरबान है। सारा मैटर संगठन से जुड़ा है जिसकी जिम्मेवारी ओपी चौटाला व अशोक अरोड़ा की है, विपक्ष के नेता होने के नाते मैं लोगो की दिक्कतों को उठा रहा हूँ।

पिछले दिनों दुष्यन्त ने आरोप लगाया कि बीजेपी की भूमिका निभा रहा हूं जो गलत है। पूरी तरह से में सरकार की सदन के अंदर व बाहर पोल खोल रहा हूँ।

मुझे दुर्योधन और जयचंद का नाम दिया गया और 17 को जींद में सत्तारवी करने की बात भी की गई। मुझे अफसोस है कि मेरी स्टाहरवी मेरा बड़ा भाई करे मुझे दुर्योधन जयचंद कहे बहुत पीड़ादायक है। में मिला और गिला किया गया । लेकिन उन्होंने छोटा भाई कहा तो मुझे लगा कि बात शायद यही खत्म हो गयी लेकिन ऐसा नही हुआ

नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला की तरफ से बुलाई गई इस बैठक में आर एस चौधरी,नछतर सिंह मलान, प्रवीण अत्रेय, अशोक अरोड़ा, राम पाल माजरा, सांसद चरनजीत सिंह रोड़ी, विधायक बलदेव सिंह, विधायक वेद नारंग, बलवान सिंह दौलतपुरिया, विधायक प्रो रविंद्र सिंह बालियान, विधायक राम कुमार कश्यप, विधायक नसीम अहमद, जाकिर हुसैन,
राम चन्द्र कम्बोज, परमेन्द्र ढुल मौजूद रहे।

वहीं विधायक मक्खन सिंगला के बहनोई की मृत्यु की वजह से वो नहीं पहुंच पाए इसके अलावा विधायक जसविंदर सिंह संधू अस्वस्थ होने के चलते नहीं पहुंचे।

 

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पानीपत में कपड़ा व्यापारी की देर रात चाकू गोदकर हत्या, मामले में कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष समेत पांच लोगों पर आरोप

Yuva Haryana, Panipat पानीपत में …