कस्सी-तसले की बजाय आधुनिक उपकरण देंगे मजदूरों को, वोट नहीं मांगता लेकिन श्रमिक अपने बच्चों को शिक्षा-संस्कार जरूर दें -अभिमन्यु

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Ajay Lohan, Yuva Haryana
Narnoud, 12 August, 2018
वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि मनरेगा श्रमिकों ने अपने खून-पसीने से हरियाणा को अव्वल राज्य बनाया है। मनरेगा के कामों में जहां हिसार प्रदेश के अन्य जिलों के मुकाबले सबसे आगे है, वहीं हरियाणा के श्रमिकों को देश के अन्य सभी राज्यों के मुकाबले ज्यादा मेहनताना मिलता है। 
वित्त मंत्री आज जिला हिसार के नारनौंद की अनाज मंडी में मनरेगा श्रमिक सम्मान एवं जागरूकता समारोह में उमड़े कामगारों के अपार जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। वित्त मंत्री ने मनरेगा श्रमिकों को घड़ी, टिफिन, पानी की बोतलें भेंट की और उनके साथ बैठकर भोजन किया। समारोह में 8 हजार श्रमिकों के पहुंचने की उम्मीद थी, जबकि यह संख्या 15 हजार तक पहुंच गई जिसके लिए बाद में शैड के अलावा बाहर टैंट लगाकर अतिरिक्त व्यवस्था करनी पड़ी। मुख्य शैड के साथ लगते दूसरे शैड में भी भारी संख्या में लोगों ने खड़े होकर कार्यक्रम को सुना। 
वित्त मंत्री ने श्रमिकों को हिंदुस्तान का निर्माता और सृष्टि का रचयिता बताते हुए कहा कि उनकी मेहनत और मजदूरी के कारण ही आज देश और प्रदेश तरक्की व खुशहाली के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है। हरियाणा सरकार द्वारा मनरेगा मजदूरों को केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित दिहाड़ी से ज्यादा मेहनताना दिया जा रहा है। आज हरियाणा के मनरेगा श्रमिक को प्रतिदिन 281 रुपये मजदूरी दी जा रही है। मनरेगा का काम करवाने में हिसार जिला अन्य सभी जिलों से आगे है जिसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन की खुलकर सराहना की।
वित्त मंत्री ने भारी संख्या में समारोह में पहुंची महिलाओं को हरियाली तीज, रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए उन्हें कौथली के रूप में जिला के प्रति श्रमिक को मिल्टन कंपनी का एक बढिय़ा टिफिन, एक थर्मस बोतल और दीवार घड़ी देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि त्यौहार की यह सौगात मनरेगा एबीपीओ व मेट के माध्यम से सूची के आधार पर हर श्रमिक को उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिला में खेतों में बनी जिन ढाणिय