पुलिस अफसरों को लूटता था ये आरोपी, अब गिरफ्तार

Breaking Uncategorized अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

19 Oct, 2019

हरियाणा पुलिस के बड़े अफसरों और दो नेताओं ट्राइसिटी के कई बिजनेसमैन का पैसा लेकर 2013 को फरार हुए विक्रम यानी विक्की वांटेड हरियाणा पुलिस के क्रिमिनल अंबाला निवासी हिमांशु को अरेबिया की फ्लाइट से गिरफ्तार किया गया है।। पुलिस का मानना है कि आरोपी विक्की दुबई और सिंगापुर में रहकर लोगों को अवैध तरीके से विदेश भेजने का काम करता है। पंचकूला सेक्टर 2 के खिलाफ बलात्कार के केस में हरियाणा पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी किया था। जबकि घोषित होने के बाद भी पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था। अब चंडीगढ़ पुलिस विक्की को जयपुर से चंडीगढ़ लेकर आएगी और उसका रिमांड हासिल करेगी। विक्की की गिरफ्तारी के बाद ठगी के शिकार हुए पुलिस अफसरों को पैसा मिलने की आस हुई हैविक्रम का पासपोर्ट भी जारी होने का शक क्राइम ब्रांच की टीम रविवार को जयपुर पहुंची और उसकी रेट दर्ज की है। पुलिस विक्की को चंडीगढ़ लेकर आ रही है पुलिस को शक है कि विकी के पास जो पासपोर्ट है वह नकली है। वह फर्जी दस्तावेजों के तहत तैयार किया गया है क्योंकि उसमें उसका पता डीएलएफ टावर फेज 3 गुरुग्राम लिखा हुआ है। इसी पते का उसका पासपोर्ट बना जबकि विक्की पहले जिस पासपोर्ट में 2013 में दुबई फरार हुआ था पंचकूला के सेक्टर 2 के पते पर बना था। अब तक विकी के खिलाफ सेक्टर 18 निवासी सुनील चोपड़ा और एक करोड़ का तलवार ने ठगी का केस दर्ज करवाया था आपको बता दें कि विकी ने हाईकोर्ट से सुरक्षा मांगी थी। लेकिन उसको इस मामले में कोई राहत नहीं मिली विकी कभी स्कूटर में कहने का काम करता था, और उसने अपने दोस्त बाबा के जरिए यूपी पुलिस के अफसरों को पहले करीबी बनाया बाद में अफसर उसके चक्कर में फस गए विकी के जरिए उन्होंने अपना पैसा ब्याज पर देना शुरू किया कई लोगों से करोड़ों रुपए हड़पे और उल्टा पुलिसकर्मियों को धमकाने लगा 2013 में हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि इंस्पेक्टर और हालांकि कोर्ट ने उसकी याचिका खारिज कर दी थी। उसके बाद विक्की ने बचने के लिए खुद की किडनैपिंग का ही केस दर्ज करवाया था। विक्रम उर्फ विक्की चंडीगढ़ और पंचकूला पुलिस के दर्शन अफसरों और कोई बिजनेसमैन बिजनेसमैन से करोड रुपए ठाकुर चुका है। सारा पैसा विक्रम और विक्की के ब्लैक में लिया गया करोड़ों की ठगी का शिकार होने के बावजूद किसी पुलिस अफसर ने विकी के खिलाफ शिकायत नहीं दी क्योंकि ऐसा करते तो पहले उंगली उन पर उठती की कितना पैसा कहां से आया विक्की खुद भी जानता था इसलिए उसने ज्यादातर पुलिस अफसरों को ही शिकार बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *