हौसले को सलाम : एसिड ने उनका चेहरा जलाया, लेकिन हौसलों को नहीं

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें स्थानीय हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Rohtak, 2 July 2019

एसिड अटैक की वजह से कई महिलाओं और युवतियों की जिंदगी बर्बाद हो चुकी है। इस रोकने के लिए सरकार अपनी तरफ से प्रयास तो करती है लेकिन सरकार के यह सारे प्रयास आज भी कहीं न कहीं नाकाम होते है। एसिड अटैक के कारण बहुत सारी लड़कियां और महिलाएं आज बद से बदतर हालात में अपना जीवन यापन करने को मजबूर हैं। हमारे देश में कई महिलाएं एसिड अटैक का शिकार हो चुकी है।

लेकिन उन महिलाओं के हौसलों को हम सलाम करते है, जिन्होनें एसिड अटैक जैसे भयानक हादसे का मंजर झेलने के बाद भी कभी हार नहीं मानी। तेजाब ने उनका चेहरा जलाया, लेकिन हौसलों को नहीं। हरियाणा के रोहतक में भी एसिड अटैक से पीड़ित चार लड़कियों ने एक अनोखी मिसाल पेश की है। एसिड अटैक में चेहरा खराब होने के बावजूद भी इन चार लड़कियों ने बुलंद हौसले के साथ रैंपवॉक किया और समाज को यह संदेश दिया कि बाहरी खूबसूरती मायने नहीं रखती।

खरावड़ के एक बैंक्वेट हॉल में एफएमआर मिस एंड मिसेज हरियाणा-19 समारोह आयोजित किया गया था। इस समारोह में एसिड अटैक से पीड़ित 4 लड़कियों ने भी भाग लिया। रेट्रो रेजा थीम पर डिजाइनर गाउन पहनकर रोहतक की ऋतु सैनी, आगरा की मधु, लखनऊ की फराह खान और रूपाली रैंप पर उतरी। इस दौरान फराह खान ने संदेश दिया कि जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए बाहरी खूबसूरती कभी मायने नहीं रखती है, कर्म ही उसकी पहचान बनाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *