राहगीरी कार्यक्रम का लुत्फ उठाने में रोड़ा बन रहे प्रशासनिक अधिकारी, नहीं ले रहे गंभीरता से

Breaking कला-संस्कृति चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Pradeep Dhankhad, Yuva Haryana
Bahadurgadh, 23 june 2019

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी को तनाव मुक्त बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा जगह-जगह राहगीरी का आयोजन किया जाता है। अब राहगीरी महज खानापूर्ति बनकर रह गया। ऐसा ही कुछ नजारा आज बहादुरगढ़ में देखने को मिला।यहां रेलवे रोड पर शहीद ब्रिगेडियर होशियार सिंह स्टेडियम के सामने राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 6:00 बजे शुरू होने वाला कार्यक्रम 8:20 पर विधिवत रूप से शुरू हुआ। कार्यक्रम देर से भले ही शुरू हुआ लेकिन महज 40 मिनट में ही यह कार्यक्रम खत्म भी हो गया। इस कार्यक्रम में  घर से तैयार होकर आए  नन्हे बच्चों  को स्टेज पर  सभी कार्यक्रम प्रस्तुत करने का  अवसर नहीं मिला।  शहर की  कराटे  टीम जो लोगों को आत्मरक्षा के लिए प्रेरित करने आई थी,  उन्हें भी परफॉर्म करने से मना कर दिया गया।

इस कार्यक्रम का मकसद लोगों को तनावपूर्ण जीवन से मुक्ति दिला कर मौज-मस्ती, खेल कूद और मशीनी जिंदगी से बाहर निकाल कर उन्हें खेल- कूद और सुबह की सैर के लिए जागरूक करना है। लेकिन एक तरफ जहां अधिकारी इसे लेकर संजीदा नहीं है तो वहीं दूसरी तरफ स्थानीय लोग भी अब इसमें बेहद कम रुचि ले रहे हैं। ऐसे में सरकार ऐसे कार्यक्रमों भारी-भरकम खर्च कर आम लोगों के खून पसीने की कमाई से आए टैक्स का दुरुपयोग कर रही है।

वैसे तो प्रदेश की मनोहर सरकार और प्रशासनिक अधिकारी राहगीरी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए भी चोटी तक का जोर लगा रहे हैं। लेकिन अब इस कार्यक्रम का जोश सरकारी अधिकारियों और स्थानीय लोगों में ठंडा पड़ चुका है। शायद इसी का नतीजा है कि बहादुरगढ़ के रेलवे रोड पर आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में अधिकारियों स्थानीय लोगों के देर से पहुंचने पर यह कार्यक्रम 8:20 पर विधिवत रूप से शुरू हुआ।

स्थानीय लोगों ने भी कार्यक्रम का लुत्फ उठाया है। परफॉर्मेंस देने आए छोटे बच्चों और हॉकी गर्ल्स ने हरियाणवी गानों पर जमकर मौज मस्ती की। जिला पुलिस और प्रशासन की ओर से इस कार्यक्रम में महिला सुरक्षा आत्मरक्षा रोड सेफ्टी और दुर्गा शक्ति एप के प्रति जागरूक तक करने वाला कोई दिखाई नहीं दिया। पुलिस प्रशासन को चाहिए कि ऐसे कार्यक्रमों में आए लोगों को जागरूक किया जाए ताकि पुलिस प्रशासन और पब्लिक तीनों में आपसी सौहार्द बना रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *