किसान के बेटे ने जीता यूथ ओलंपिक में सिल्वर, पहले भारतीय बने आकाश मलिक

Breaking खेल चर्चा में देश बड़ी ख़बरें युवा युवा चैम्पियन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 18 Oct, 2018

हिसार के उमरा गांव के किसान के बेटे ने युूथ ओलंपिक गेम्स में सिल्वर मेडल जीतकर देश और प्रदेश का नाम रोशन किया है। आकाश मलिक ने तीरदांजी में यह मेडल जीता है वही सिल्वर मेडल जीतने वाले वे पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए है। किसान के 15 वर्षीय बेटे आकाश मलिक फाइनल मुकाबले में अमेरिका के ट्रेंटन कोलेस से 6-0 से हार गए थे।

भारत ने इन खेलों में तीन स्वर्ण, नौ रजत और एक कांस्य पदक जीता। क्वॉलिफिकेशन के बाद पांचवीं वरीयता प्राप्त आकाश फाइनल में लय कायम नहीं रख सके। कोलेस ने सिर्फ दस और नौ में स्कोर करके आसानी से जीत दर्ज की। तीन सेटों के मुकाबले में दोनों ने चार बार परफेक्ट 10 स्कोर किया लेकिन आकाश ने पहले और तीसरे सेट में दो बार सिर्फ छह स्कोर किया।

बता दें कि इससे पहले इन खेलों में अतुल वर्मा ने साल 2014 में कांस्य पदक जीता था। आकाश ने छह साल पहले तीरंदाजी शुरु की थी और वो उमरा में तीरंदाजी कोच मनजीत मलिक ने उसे ट्रायल के लिए चुना था।

आकाश के पिता नरेंदर मलिक गेहूं और कपास की खेती करते हैं लेकिन वो कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा किसान बने। आकाश ने पिछले साल युवा ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीता था। उसने एशिया कप पहले चरण में गोल्ड, दूसरे में दो कांस्य और दक्षिण एशियाई चैम्पियनशिप में एक सिल्वर और एक कांस्य पदक जीता था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *