अंबाला के रहने वाले एयरफोर्स ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह ने ISI को खुफिया जानकारी भेज अपने ही देश को दिया धोखा

Breaking हरियाणा विशेष

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को देश से जुड़ी खुफिया जानकारी देने के आरोप में एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51) को राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया गया है।

ISI ने हनीट्रैप के जरिए मारवाह से खुफिया जानकारी हासिल की है। अंबाला का रहने वाला अरुण फेसबुक के जरिए दो पाकिस्तानी महिलाओं किरण रंधावा और महिमा पटेल के संपर्क में आया था।

शुरुआत में सिर्फ लाइक्स और छोटे-मोटे कमेंट जैसे संवाद के कुछ समय बीत जाने के बाद दोनों फेक अकांउट्स से मारवाह को लुभाने वाले मैसेज आने लगे और वह हनीट्रैप का शिकार हो गया।

बाद में वह सीक्रेट डॉक्यूमेंटस की फोटो खींचकर वॉट्सएप के जरिए ISI को इन्फॉर्मेशन भेजने लगा। संदिग्ध गतिविधियां पाए जाने पर 31 जनवरी को उसे हिरासत में ले लिया गया था। पूछताछ में मारवाह ने वायुसेना के मुख्यालय से दस्तावेज चोरी करने की बात कबूली है। बता दें कि मारवाह अगले साल रिटायर होने वाले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *