हाईकोर्ट बता दे कि भष्टाचार मामलों में कैसे कार्रवाई होनी चाहिए, आगे से वैसा ही करेंगे- अनिल विज

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Rajesh Sharma, Yuva Haryana

Ambala, 24 May, 2018

हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने आज हाईकोर्ट को नसीहत दे डाली। अनिल विज ने  कैथल की कष्ट निवारण समिति  की बैठक में  सस्पेंड पब्लिक हेल्थ  के SDO  पर मामला दर्ज और सस्पेंशन के आदेशों पर हाई कोर्ट की रोक पर तल्ख टिप्पणी की है। विज का कहना है कि भ्रष्टाचार के मामलों में  कैसे जांच और कार्रवाई होनी चाहिए,  हाई कोर्ट उन्हें बता दें, वे आगे से वैसा ही करेंगे।

विज ने कहा कि उन्होंने SDO के मामले में FIR दर्ज करके जांच करने के लिए कहा था। क्योंकि शिकायतकर्ता लिख कर दे रहा है और आरोप लगा रहा है कि उससे 20 प्रतिशत कमीशन मांगी जाती है।

अगर हाइकोर्ट इसके अतिरिक्त कोई और फैसला करना चाहता है तो उसका स्वागत है। SDO  पर बोलते हुए विज ने कहा कि हर गलत आदमी अपनी हरकतों से ध्यान हटाने के लिए औरंगजेब जैसों का नाम लेकर ध्यान भटकाने का प्रयास करता है।

अंबाला में कष्ट निवारण समिति की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार ने भी स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की बात का समर्थन दिया है। पंवार ने कहा कि कष्ट निवारण समिति के चेयरमैन को पूरा अधिकार होता है कि वह शिकायत आने पर कोई भी एक्शन ले सकता है।

लेकिन कोर्ट में जाकर अपनी बात को रखने का कर्मचारी और लोगों को प्राधिकार है। कृष्ण पंवार ने विज के एक्शन की तारिफ करते हुए कहा कि इस मामले में अनिल विज ने एक्शन लिया है और अब ये मामला कोर्ट में है, जिसपर अब कोर्ट को ही निर्णय लेना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *