सीनियर एशियन रेसलिग चैंपियनशिप: हरियाणा की बेटी अंशु मलिक ने ब्रांज मेडल पर साधा निशाना

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Jind

जुलाना के गांव निडानी में सुरेंद्र सिंह मलिक मेमोरियल खेल स्कूल की रेसलर अंशु मलिक ने दिल्ली में चल रही सीनियर एशियन रेसलिग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर ओलंपिक के लिए होने वाली ट्रायल का रास्ता साफ कर लिया हैं। बता दें कि अंशु मलिक की उम्र 18 वर्ष हैं तथा सीनियर स्तर पर यह उसकी पहली ही चैंपियनशिप थी। जिसमें उसने मेडल हासिल कर लिया हैं।

अंशु मलिक का कहना है कि उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं था, परंतु पाने के लिए सब कुछ था। अंशु ने कहा कि आज मुझे पता चल गया हैं कि मैं कहां खड़ी हूं तथा इतनी छोटी उम्र में सभी सीनियर व अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पहलवानों के साथ कुश्ती के बाद मुझे लगा कि इस अनुभव से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला हैं। यह सब ओलंपिक के लिए होने वाली ट्रायल में बहुत मदद करेगा।

आपको बता दें कि यह ट्रायल 30 अप्रैल से सर्बिया में आयोजित की जानी हैं। दिल्ली में चल रही एशियन सीनियर कुश्ती चैंपियनशिप में अंशु मलिक ने प्रारंभिक मैच किर्गिस्तान की पहलवान को टेक्निकल सुपीरियोरिटी के आधार पर हराया।वहीं विद्यालय संरक्षक डा. महेंद्र सिंह मलिक और चेयरपर्सन कृष्णा मलिक ने विजेता पहलवान, प्राचार्या राजवंती मलिक व प्रशिक्षक जगदीश एवं राजेश को बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *