दिग्विजय-दुष्यंत ने एक राजनैतिक लड़ाई को निजी लड़ाई बनाने का काम किया: अर्जुन चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Jind, 24 Jan,2019

इनेलो युवा नेता अर्जुन चौटाला ने दुष्यंत के उस बयान की कड़ी निंदा की है जिसमें उन्होंने महिलाओं को जेजेपी समर्थित उम्मीदवार को वोट न देने पर परिवार के पुरुषों को रोटी न देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय-दुष्यंत ने पहले देश के ताऊ देवीलाल के परिवार इनेलो को तोड़ा फिर दादा ओमप्रकाश चौटाला के परिवार को तोड़ा अब ये गांव-गांव में आम लोगों के परिवारों को तोडऩे की सीख दे रहे हैं।

इनेलो युवा नेता ने कहा कि राजनीति समाज को दिशा देने और समाज के निर्माण के लिए होती है जिसमें युवाओं की भूमिका हमेशा अहम् रही है लेकिन ये दोनों भाई घर तोडऩे की और बुजुर्गों के अनादर की सोच रखते हैं जिसकी इनेलो कड़ी निंदा करती है। अर्जुन चौटाला ने यह भी कहा कि यह दोनों भाई लोगों की सहानुभूति पाने के लिए हमेशा से ही अमर्यादित और अवांछित हरकतें करते रहे हैं। इन्होंने पहले ओमप्रकाश चौटाला से आशीर्वाद प्राप्त करने की बात कही थी, आज उन्हीं को तिहाड़ भेजने का काम किया है।

जेजेपी को ‘जमा झूठी पार्टी’ की संज्ञा देते हुए इनेलो युवा नेता ने यह भी कहा कि इन लोगों की झूठ की पोल खुल चुकी है। अब ये नया षड्यंत्र रच जनता को बहकाने का काम करेंगे। देश के युवा ने हमेशा देश और समाज निर्माण में अहम् भूमिका निभाई है लेकिन कुछ लोग आज युवाओं को बहकाकर उनकी शक्ति का उपयोग अपने निजी स्वार्थ सिद्ध करने के लिए कर रहे हैं।

अर्जुन चौटाला ने जेजेपी द्वारा फैलाए जा रहे उस भ्रम को भी नकार दिया जिसमें कहा गया था कि उनकी दादी स्नेहलता चौटाला का बयान कर्ण चौटाला द्वारा जबर्दस्ती दिलवाया गया है। उन्होंने कहा कि उनके बड़े भाई पोते होने के नाते दादी के पास थे और दादी ने ही उनसे आग्रह किया था कि वह दिग्विजय-दुष्यंत की गद्दारी की पोल स्वयं लोगों के सामने खोलेंगी। बता दें कि इनेलो सुप्रीमो की धर्मपत्नी स्नेहलता लम्बे से मेदांता अस्पताल में उपचाराधीन हैं।

युवा इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो एक परंपरा की पार्टी है जिसने हमेशा बड़े-बुजुर्गों का सम्मान किया है लेकिन दिग्विजय-दुष्यंत ने एक राजनैतिक लड़ाई को निजी बनाने का काम किया है। परिवार के बुजुर्ग हमारी जड़ें हैं और जड़ों से कटा हुआ समाज कभी तरक्की नहीं कर सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *