सेना में बदलाव, अब से सैनिकों की वर्दी पर लिखा होगा ब्लड ग्रुप

देश बड़ी ख़बरें हरियाणा

बैटल फील्ड में लड़ते समय़ घायल होना आम बात है, कई बार ब्लड की आवश्यकता भी पड़ती है। इस दौरान इतना समय नहीं होता कि सभी सैनिकों के ब्लड ग्रुप की पहचान हो सके, ताकि घायल सैनिक को जरूरत पड़ने पर साथ का ब्लड चढ़ाया जा सके। मगर कुछ बदलाव के बाद अब ऐसी दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि इन्फेंट्री में दुश्मन से मोर्चा लेने वाले सैनिकों की नेम प्लेट पर उनके नाम के साथ उनका ब्लड ग्रुप भी दिया जा रहा है।

जरूरत पड़ने पर ब्लड की जांच का समय बचाया जा सके। इससे दो फायदे होंगे, पहले तो समय की बचत और दूसरा फायदा रेयर से रेयर ब्लड की उपलब्धता भी आसानी से हो सकेगी। बता दें कि HU के मेला ग्राउंड में सेना ने दो दिवसीय सैन्य प्रदर्शनी आयोजित की है, जिससे कि युवाओं को सेना में कॅरियर बनाने के लिए प्रेरित किया जा सके।

सेना के जवानों को बर्फीले तूफानों में, सीमा के साथ दुर्गम स्थानों पर ड्यूटी करनी पड़ती है। इसमें पहले कई बार पहचान को लेकर दिक्कत आती थी। सैनिकों को दो पहचान अलग से दी गई हैं। इसमें एक ब्रेसलेट तो हाथ पर बांधा जा रहा है, जिसपर सैनिक का नाम, कोड, ब्लड ग्रुप रहेगा। वहीं ठीक इसी प्रकार की जानकारी उनके गले में पहने हुए लॉकेट पर भी रहेगी।