सेना में भर्ती होने वाले युवाओं की होगी अब फिंगर प्रिंट औऱ हैंडराईटिंग की जांच

बड़ी ख़बरें रोजगार हरियाणा

भारतीय सेना में उम्र और दस्तावेंजो लेकर युवा हेरा-फेरी करते है उस पर सेना ने सख्ती दिखाई है। आधार कार्ड से छेड़छाड़ कर नेशनल सिक्योरिटी में सेंध लगाने के प्रयास करने के मामले में भी सेना सख्त हुई है।
इसलिए सेना ने अब आधार कार्ड की जांच के साथ-साथ भर्ती में शामिल होने वाले युवाओं के फिगर प्रिंट और हैंडराइटिंग की फारेसिंक जांच करवाने का निर्णय लिया है। इसके लिए सेना मुख्यालय से स्वीकृति मिलने पर सेना भर्ती कार्यालय ने मधुबन जांच लैब से संपर्क किया है। साथ ही रेजिडेंस सर्टिफिकेट में छेड़छाड़ करके भर्ती होने का भी खुलासा हुआ है। ऐसे मामलों की सेना अधिकारियों द्वारा जांच की जा रही है।

भारतीय सेना में नकली सर्टीफिकेट से सेना में शामिल होने वाले युवाओं द्वारा किए गए फर्जीवाड़ा लगातार खुलता जा रहा हैं। आधार कार्डों में छेड़छाड़ कर जन्मतिथि और नाम बदलने के मामलें की जांच सेना मुख्यालय के साथ-साथ यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के क्षेत्रिय कार्यालय चंडीगढ़ द्वारा की जा रही है।
भर्ती कार्यालय के की मानें तो पत्र में स्पष्ट किया गया है कि युवाओं के भर्ती में शामिल होने से पूर्व फिंगर प्रिंट और हैंडराइटिंग ली जाएगी। जांच रिपोर्ट आने के बाद भी उम्मीदवार को सेना में लिया जाएगा। इसके अलावा दूसरे व्यक्ति के दस्तावेज प्रयोग करने वाले पर सेना की विशेष नजर रहेगी और उससे संबंधित पूरा डाटा एकत्रित कर पुलिस रिपोर्ट की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *