दिव्यांग अरुणिमा ने अंटार्कटिका की विंसन मैसिफ पर्वत चोटी पर फहराया भारतीय ध्वज

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

faridabad 15. jan. 2019

हरियाणा के फतेहाबाद की रहनेवाली अरूणिमा ने अपनी कमजोरी को ताकत बनाते हुए नया किर्तीमान रच दिया है।

अरुणिमा सिन्हा  अंटार्कटिका की विन्सन मैसिफ पर्वत चोटी पर तिरंगा लहराने वाली विश्व की पहली दिव्यांग महिला बन गई है। मौसम के प्रतिकूल रुख से जूझते हुए अरुणिमा ने यह महत्वपूर्ण मिशन पूरा किया। अरुणिमा ने अपनी उपलब्धियों से एक बार फिर पूरे देश का नाम रोशन किया है।

इतना ही नहीं फरीदाबाद आने पर पीएम मोदी ने उन्हें ट्वीट कर बधाई भी दी है।अरुणिमा का कहना हैं कि दिव्यांगता शरीर में नहीं बल्कि दिमाग में होती है।  अरुणिमा ने बताया कि साल 2011 में  एक हादसे में उनकी एक टांग चली गई थी।

जिसमें उनका एक पांव चला गया था और दूसरे पांव में रॉड डाली गई थी। लेकिन इस सबके बावजूद भी उन्होंने कभी भी हिम्मत नहीं हारी।

इसी के कारण आज उन्होंने दुनिया भर में भारत का नाम रोशन किया है। बता दें कि अरुणिमा दुनियां की 7 सबसे ऊंची चोटियों पर तिरंगा फहरा चुकी हैं।अरुणिमा का कहना है कि उनके पति और परिवार के लोग उसकी हर तरह से मदद करते हैं।

अरुणिमा को साल 2016 में तेन्जिंग नॉरगे नेशनल एडवेंचर अवार्ड भी दिया गया है। इस पुरस्कार को भारत में दिये जाने वाले अर्जुन पुरस्कार के समान माना जाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *