आसाराम को मिली गुनाहों की सजा, जिंदगीभर रहेंगे जेल की सलाखों के पीछे

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा

जोधपुर की कोर्ट ने नाबालिग शिष्या से रेप मामले में आसाराम को दोषी करार दियाहै। इस मामले में भी सेंट्रल जेल में ही कोर्ट लगाकर फैसला सुनाया गया है।

जेल में चली कोर्ट ने आसाराम और उसके दो अन्य सहयोगियों को दोषी करार दिया जबकि दो अन्य आरोपियों को बरी कर दिया गया।

आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है जबकि दो अन्य दोषियों को 20-20 साल की सजा सुनाई गई है।आसाराम को दोषी करार दिया गया, आसाराम की सेवादार शिल्पी और शरतचंद्र को दोषी करार दिया गया। जबकि कोर्ट ने सेवादार शिवा और रसोइया प्रकाश को बरी कर दिया गया।

देश में यह भी एक बड़ा मामला है और इसी वजह से देश में चौथी बार जेल के अंदर ही अदालत लगी है, इससे पहले इंदिरा गांधी के हत्यारों को जेल से ही सजा सुनाई गई थी, फिर आतंकी अजमल कसाब, डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम और अब आसाराम को जेल से सजा सुनाई गई है।

ये देश का चौथा ऐसा बड़ा मामला है, जब जेल में कोर्ट लगी और वहीं से फैसला सुनाया गया। पॉक्सो एक्ट के तहत भी ये पहला बड़ा फैसला है।

इन दो वजहों से दोषी करार दिये गए आसाराम

  1. नाबालिग से दुष्कर्म मामले में आसाराम को दोषी करार दिया गया। नाबालिग मामले में कोर्ट ने कहा कि जब संरक्षण में नाबालिग रहता है और उसका शोषण किया जा ता है तो वो संगीन अपराध माना जाएगा।
  2. आसाराम के साथ लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई थी, इसलिए उन लाखों लोगों के साथ नाइंसाफी के चलते भी कोर्ट ने आसाराम को दोषी करार दिया।

चार साल तक घर में जेल की तरह रहे बंद-पीड़िता

दुष्कर्म पीड़िता के परिजनों ने केस लड़ने  के लिए घर से ट्रक तक बेच दिये।

पीड़िता यूपी के शाहजहांपुर की रहने वाली है।

पीड़िता के परिजनों को बार-बार धमकाया भी गया।

नौ गवाहों पर कई बार हमला किया गया।

तीन गवाहों को मौत के घाट उतार दिया गया।

कोर्ट को कई बार गुमराह किया गया।

27 दिन तक मामले में लगातार सुनवाई हुई

पीड़िता लगातार अपने बयान पर कायम रही ।

जांच अधिकारी ने भी हर धारा पर ठोस जवाब दिये।

क्या था पूरा मामला ?

पीड़िता ने बताया कि वो आसाराम के गुरुकुल में पढ़ती थी, यहां पर उसे दौरे पड़ते थे। इसी को लेकर गुरुकुल की एक शिक्षिका ने पीड़िता के माता-पिता से आसाराम से इलाज करवाने की मांग की थी।

जिसके बाद आसाराम पीड़िता को जोधपुर के पास मणाई गांव के फार्म हाउस में लेकर आ गए, पीड़िता के परिजनों को बाहर ही रोक दिया गया था।

पीड़िता के मुताबिक आसाराम ने अकेले कमरे में ले जाकर उसके साथ अश्लील हरकतें की। ओरल सेक्स के लिए पीड़िता को कहा गया लेकिन पीड़िता ने मना कर दिया।

 

 

 

 

 

 

1 thought on “आसाराम को मिली गुनाहों की सजा, जिंदगीभर रहेंगे जेल की सलाखों के पीछे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *