आशा वर्कर्स का मानदेय 4000 किया सरकार ने, सभी भत्ते बढ़ाए, जनवरी 2018 से लागू माना जाएगा

Breaking बड़ी ख़बरें रोजगार सरकार-प्रशासन सेहत हरियाणा
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने घोषणा की कि सभी आशा वर्कर्स को बिना किसी शर्त के 4000 रुपये का निर्धारित मासिक मानदेय दिया जाएगा, जो जनवरी, 2018 से लागू होगा। 
विज की अध्यक्षता में आज यहां आशा वर्कर यूनियन, हरियाणा की आयोजित एक बैठक में इस आशय का एक निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक आशा वर्कर का कार्य सुनिश्चित करने के लिए उनके कार्य प्रदर्शन का मूल्यांकन वार्षिक आधार पर किया जाएगा। 
मंत्री ने कहा कि पांच कार्यों के लिए प्रदर्शन के आधार पर प्रोत्साहन बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया। संस्थागत प्रसूति के लिए इस समय दी जा रही 300 रुपये और 200 रुपये की प्रोत्साहन राशि को बढ़ाकर क्रमश: 400 रुपये और 300 रुपये किया जाएगा।
इसी प्रकार, रूटीन टीकाकरण के लिए 150 रुपये के वर्तमान प्रोत्साहन को बढ़ाकर 250 रुपये किया जाएगा और एंट नाटल केयर के प्रोत्साहन को 250 रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये, एचबीपीएनसी को 250 रुपये से बढ़ाकर 350 रुपये और परिवार नियोजन/स्पेसिंग की प्रोत्साहन राशि 500 रुपये से बढ़ाकर 550 रुपये किया जाएगा।
सभी आशा सुविधादाताओं की सेवाएं जारी रहेंगी। मासिक एनएचएम अर्निंग पर वर्तमान अतिरिक्त 50 प्रतिशत प्रोत्साहन पहले की भांति जारी रहेगा। मृतक आशा वर्कर के परिवार को एएनएम के क्रम में एक्सगे्रशिया अनुदान प्रदान किया जाएगा। नियमित और अनुबंध आधार पर एमपीएचडब्ल्यू (एफ) और स्टाफ नर्स की नियुक्तियों में पात्र आशा वर्कर को अधिमान दिया जाएगा। आशा वर्कर के लिए 2018-19 में एंड्रोइड फोन प्रदान करने के लिए प्रस्ताव भारत सरकार की अनुमति के लिए भेजा गया है। सभी एससीज,  जिन्हें स्वास्थ्य और वैलनैस सेंटर में परिवर्तित किया जा रहा है, में आशा वर्कर को सांझा एलमीरा प्रदान की जाएंगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने आशा वर्कर यूनियन से तुरंत हड़ताल समाप्त करने का आग्रह किया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *