नोटिफिकेशन जारी ना करने पर आशा वर्कर्स यूनियन ने सरकार की मंशाओं पर उठाए सवाल

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा
सरकार ने आशाओं के साथ समझौते के निर्णयों का जल्द ही नोटिफिकेशन जारी नहीं किया तो 20 मार्च से प्रदेश की तमाम 20000 आशा वर्कर्स दोबारा हड़ताल पर चली जाएगीं।
आशा वर्कर्स यूनियन की राज्य महासचिव सुरेखा व प्रधान प्रवेश ने कहा कि आशाओं ने अपनी मांगों को लेकर 17 जनवरी से अपना आन्दोलन शुरू किया था व सफल हड़ताल की थी।
इस हड़ताल व आन्दोलन के बाद सरकार के स्वास्थ्य मत्री अनिल विज की अध्यक्षता में सरकार ने यूनियन के साथ 1 फरवरी को समझौता किया था। इस बैठक मे स्वास्थ्य महानिदेशक हरियाणा, वितायुक्त एवं प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग, एनएचएम की निदेशक समेत तमाम आला अधिकारी मौजूद थे।
सरकार की इस अपील पर कि जल्द ही फैसलों का नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा यूनियन ने अपनी हड़ताल व आन्दोलन वापस ले लिया था। परन्तु एक महीना गुजरने के बावजूद अभी तक सरकार या विभाग की और से नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है। सरकार व विभाग को कईं बार लिखा गया है परन्तु नोटिफिकेशन नहीं निकला। इससे वर्कर में सरकार की मंशाओं पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं।
इसलिए राज्य कमेटी ने 20 मार्च से पुनः हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। हड़ताल का नोटिस विभाग के अधिकारियों को 6 मार्च को सौंपा जाएगा। इससे पूर्व 11 मार्च को पोलियो अभियान है। कमेटी ने फैसला लिया है कि यदि इससे पहले नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ तो आशा वर्कर्स काली पटियां बांधकर पोलियो अभियान में भाग लेंगी।
यूनियन ने सरकार को बताया कि वह आशाओं के धैर्य की परिक्षा न ले व समझौते का नोटिफिकेशन जल्द लागू करे। जिसमें फिक्स वेतन में 3000 की बढ़ौतरी, प्रोत्शाहन राशियों में बढ़ौतरी व उसका 50 प्रतिशत बोनस, एन्डृ्रायड मोबाईल फोन, आशा फैसलिटेटर के केस को कोर्ट से वापस लेना, अलमारी रजिस्टर देना आदि फैसले शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *