हरियाणा का बेटा विमान हादसे में हुआ शहीद, दो साल पहले ही हुई थी शादी

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Bhagat Singh, Yuva Haryana
Palwal, 05 June, 2019

चीन सीमा के पास असम के जोरहाट से सोमवार को 12 बजकर 25 मिनट पर अरूणाचल के मेनचुका के लिए उड़ान भरने वाले इंडियन एयरफोर्स (आईएएफ) के एएन-32 एयरक्राफ्ट के क्रेश होने पर उसमें सवार 29 वर्षीय पायलट आशीष तंवर शहीद हो गया। 18 मई को वह छुट्टी बिताकर पलवल से अपनी डयूटी पर जोरहाट गए थे। पायलट आशीष तंवर के शहीद होने की सूचना उनके पैतृक गांव दीघौट और उनके घर सेक्टर दो पलवल में सायं साढे 5 बजे पहुंची।

पायलट आशीष तंवर के चाचा जय नारायण और पिता उदयबीर ने बताया कि क्रेश हुए विमान का मलवा मिल गया है और उसमें सवार पायलट आशीष तंवर अब नहीं रहे। जोरहाट से शहीद आशीष तंवर के चाचा जयनारायण ने अपने परिजनों को बताया कि एएन 32 एयरक्राफ्ट ने 12 बजकर 25 मिनट पर असम स्थित जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरी थी। विमान के क्रेश होने की सूचना के चलते इंडियन एयरफोर्स ने सुखोई-30 कॉ बैट एयरक्राफ्ट और सी-130 स्पेशल ऑपरेशंस एयरक्राफ्ट के सहयोग से मलवा ढूंढ निकाला।

लापता हुए विमान एएन 32 में 8 क्रू मेंबर्स और 5 यात्री सवार थे। उडान भरने के करीब 35 मिनट बाद विमान का रेडार से संपर्क टूट गया और बाद में क्रेश होने की सूचना मिली। मंगलवार सायं करीब साढे पांच बजे शहीद आशीष तंवर की मां सरोज ने बताया कि विमान क्रेश होने की सूचना सबसे पहले उनकी पत्नी संध्या को दी गई। सन्ध्या वायु सेना में रेडार आप्रेटर के पद पर कार्यरत है। आशीष तंवर की सन्ध्या से करीब 2 साल पहले शादी हुई थी। आशीष तंवर ने कप्यूटर साईंस से बीटेक करने के बाद दिसंबर 2013 में वायु सेना ज्वाईंन की। साल 2015 की मई माह में कमिश्न मिलने के बाद पायलट तैनात हुए।

आशीष तंवर अपने माता-पिता का अकेला बेटा था और शुरू से ही मेधावी और होनहार था। सेंट्रल स्कूल मेरठ से 12वीं पास करने के बाद कानपुर से कंप्यूटर साईंस में बीटेक की डिग्री लेने के बाद वायु सेना ज्वाईन की। आशीष तंवर के शहीद होने की सूचना मिलने पर उनके घर पर जहां   रिश्तेदारों का तांता लगा है वहीं गांव में कोहराम मचा है।  गांव वालों को अपने लाडले की कामयाबी और शहादत पर गर्व है लेकिन एक होनहार नौजवान के चले जाने का गम भी हैं जिसे पूरा नही किया जा सकता। गांव वालों का कहना है कि बुधवार तक शहीद आशीष तंवर का शव पलवल पहुंच जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *