भाजपा ने चार साल में सिर्फ जुमलेबाजी में निकाले, प्रधानमंत्री की रैली का बदले नाम- तंवर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 18 Nov, 2018

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद डा अशोक तंवर ने गुरूग्राम जिला में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन पर भाजपा की जनविकास रैली का नाम बदलकर प्रायश्चित सभा करने की सलाह दी है। हरियाणा के दक्षिणी जिलों ने पिछले चुनावों में जिस प्रकार दिल खोलकर भाजपा को जनसमर्थन दिया था। भाजपानीत केंद्र व हरियाणा सरकार के चार साल से अधिक शासन काल में अब वही इलाका जुमलेबाजी, झूठी घोषणाओं, बिगड़ती कानून व्यवस्था और बढ़ते भ्रष्टाचार से तंग आ चुका है। हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष ने यह बात आज यहां जारी अपने बयान में कही।

डा. अशोक तंवर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूग्राम संसदीय क्षेत्र के रेवाड़ी से ही सितंबर 2013 में बीते लोकसभा चुनाव का प्रचार आरंभ करते हुए खुद को देश का चौकीदार की संज्ञा दी थी। राफेल डील में चौकीदार की भूमिका ही खेत को खाने वाली बाड़ की तरह साबित हो चुकी है। उन्होंने कहा कि सतलुज-यमुना लिंक नहर के मामले में पहले हरियाणा के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से और उसके उपरांत राज्य के भाजपा सांसदों से मुलाकात न करना प्रधानसेवक की नीयत पर संदेह पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा ने ही भाजपा को देश में ताकत देने का काम किया था और अब हरियाणा ही भाजपा को ठिकाने लगाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा की जन-विरोधी नीतियों और मोदी द्वारा जुमलों के रूप में दिए गए जख्मों से आहत हरियाणा की जनता भाजपा का बहिष्कार करने का मन बना चुकी है।

डॉ. तंवर ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा महिलाओं के प्रति दिए गए आपत्तिजनकर बयान की निन्दा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री का यह बयान पूर्णतया संवेदनहीन और गैरजिम्मेदाराना है। उन्होंने कहा कि सीएम पहले भी महिलाओं के प्रति ऐसे अशोभनीय बयान देते रहे हैं जोकि भाजपा की करनी, कथनी और संघ की संकीर्ण मानसिकता दर्शाते हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा ऐसा मुख्यमंत्री बर्दाश्त नहीं करेगा जो महिलाओं के प्रति ऐसी सोच रखता हो। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो भाजपा वाले बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देते हैं दूसरी तरफ स्वयं मुख्यमंत्री अपने तुच्छ बयानों से उनको बेइज्जत करते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से सीधा सवाल पूछा कि उन्होंने हरियाणा पर ऐसा मुख्यमंत्री क्यों थोपा हुआ जिसको सामाजिक मुद्दों पर बात करने तक की तहजीब नहीं है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की इस गैरजिम्मेदाराना बयान का विरोध करने के लिए कल हरियाणा में कांग्रेस पार्टी द्वारा रोष प्रदर्शन किए जायेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि उन्हें तुरंत अपने इस बयान के लिए प्रदेश की जनता, विशेषकर बहन-बेटियों से माफी मांगनी चाहिए।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने भाजपा पर हरियाणा के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वर्ष 2013 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने गुरूग्राम जिला में देश की पहली डिफेंस यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखी थी लेकिन वर्तमान केंद्र सरकार ने इस यूनिवर्सिटी के निर्माण को लेकर जिस प्रकार की कछुआ चाल दिखाई, उससे रेजांगला में वीरगाथा लिखने वाली बलिदानियों की धरती आहत हुई है। इतना ही नहीं सीएम मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा के हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने तथा रेवाड़ी जिला के मनेठी में एम्स बनाने की घोषणाओं को भी केंद्र सरकार ने सिरे नहीं चढऩे दिया। मनेठी में एम्स की मांग को लेकर गुरूग्राम संसदीय क्षेत्र के बावल विधानसभा में जनआंदोलन जारी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान सोनीपत में रेल कोच फैक्टरी की नींव रखी गई थी जिससे प्रदेश के हजारों बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलना था, परंतु भाजपा सरकार ने इस कोच फैक्टरी के स्थान पर डिब्बा मुरम्मत वर्कशॉप बनाने का काम करके हरियाणा के युवाओं और जनता के साथ छलावा किया है। ऐसे मे जनविकास का नारा जनभावनाओं का अनादर करने जैसा है।

उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना पर हालिया रिपोर्ट्स में साबित हो चुका है कि यह योजना किसानों के लिए नहीं बल्कि प्रधानसेवक के पूंजीपति मित्रों की कंपनियों को लाभ पहुंचाने में सफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि प्रधानसेवक व उनकी सरकार की जनता से वायदों को पूरा न करने के गुनाहों की फेहरिस्त बेहद लंबी है। ऐसे में प्रधानसेवक के आगमन पर सत्ता के अहंकार में चूर भाजपा को चाहिए कि वह इस कार्यक्रम का नाम प्रायश्चित सभा रखें और अपनी कारगुजारियों के लिए हरियाणा की जनता से माफी मांगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *