नई खेल नीति को लेकर इनेलो का सरकार पर हमला, कहा- इससे होगा खिलाड़ियों का अपमान

Breaking खेल बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 15 April, 2018

हरियाणा सरकार की नई खेल नीति को लेकर इनेलो ने बीजेपी सरकार का घेराव किया है।  इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता रविन्द्र सिंह ढुल ने ब्यान जारी कर बीजेपी सरकार की नई खेल नीति की आलोचना की है। उन्होने बताया कि सरकार का यह फैसला निंदनीय है।

इनेलो प्रवक्ता रविंद्र सिंह ढुल ने बताया कि सरकार के इस फैसले के बाद अब खिलाड़ियों को केवल मानद पद मिलेंगे और पोस्टिंग के लिए भी उन्हे टेस्ट देना होगा।

ढुल ने कहा कि ऐसे समय में जब हरियाणा के खिलाड़ी समूची दुनियां में अपना डंका बजा रहे हैं और अकेले हरियाणा की पदक तालिका कई देशों से ऊपर है, सरकार का यह फैसला हतोत्साहित करने वाला है और द्वेष नीति से लिया गया है।

ढुल ने आगे कहा कि पीछे  गीता फोगाट ने भी सरकार को चेताया था कि 2012 की इनाम राशि के अलावा सरकार ने अभी तक किसी भी बड़ी टूर्नामेंट की इनाम राशि जारी नहीं की है ऐसे में सरकार का यह दावा विफल है कि वह खिलाड़ियों के साथ भेदभाव वाली नीति नहीं अपना रही है।

ढुल ने कहा कि खिलाड़ी देश और प्रदेश की शान हैं और उनकी शान को कम करके सरकार खिलाड़ियों को आगे बढने से रोकने का प्रयास कर रही है जिसकी इन्डियन नेशनल लोकदल निंदा करता है।

ढुल ने कहा कि जहां कांग्रेस राज से अब तक नौकरियों में खिलाडियो का हिस्सा घटता गया है, इस सरकार ने तो अपनी हदें पार कर दी हैं. ग्रुप सी एवं डी की नौकरियों में अभी तक किसी भी बड़ी भर्ती में राष्ट्रीय पदक विजेताओं को नौकरी नहीं दी है और वे सब दर दर भटक रहे हैं।

उन्होंने खेल मंत्री को इनेलो राज के दौरान खिलाडियों के लिए लिये गये हितकारी फैसले याद करवाते हुए कहा कि सरकार को इनेलो राज से कुछ सीख लेनी चाहिए. उन्होंने इस बात की भी आलोचना की कि अभी तक इतने पदक जीतने के बावजूद भी मुख्यमंत्री और खेल मंत्री ने खिलाडियों को बधाई नहीं दी है, जहाँ रियो ओलम्पिक्स में खेल मंत्री अपनी फोटो खिंचवाते दिख रहे थे; इस बार उन्होंने फोटो शूट से भी गुरेज की है।

इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ने सरकार को चेताते हुए कहा कि सरकार अपने इस फैंसले को तुरंत वापस ले वरना इनेलो खिलाडियों के हितों के लिए बड़ा कदम उठाने से भी गुरेज नहीं करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *