विनेश फौगाट के स्वागत में नहीं पहुंचा कोई सरकार का नुमाइंदा, मायूस हुए परिजन

Breaking खेल चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा के खिलाड़ी हरियाणा विशेष

पिता की मौत और फिर रियो ओलंपिक में चोट के बाद कड़ी मेहनत करके एशियन गेम्स में गोल्ड हासिल करने वाली विनेश फौगाट को सरकार द्वारा कोई भी सम्मान नहीं दिया गया।

यहां की जब वह 25 अगस्त को इंडिया वापस आयी थी तब भी सरकार का कोई भी प्रतिनिधि एयरपोर्ट पर नहीं पहुंचा। गोल्डन गर्ल विनेश फौगाट ने कहा कि समाज ने जो सम्मान दिया है, उससे वे बहुत खुश है। वहीं बेटी की खुशी के दौरान परिजनों का दर्द भी सामने आया है।

चाचा सज्जन बलाली व सांगवान खाप सचिव नरसिंह सांगवान ने आरोप लगाया कि विनेश की उपलब्धि सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों को रास नहीं आ रही है। प्रशासन की ओर से भी किसी का नहीं पहुंचना सरकार की मानसिकता को दर्शाता है।

साथ ही विनेश ने गोल्ड जीतने का श्रेय पूरे देशवासियों को दिया और कहा कि पिता की मौत के समय वो छोटी थी, मां और परिजनों के हौंसले ने इस आज उन्हें इस मुकाम पर पहुंचाया है।  विनेश ने कहा कि वो हरियाणा में ही नौकरी करना चाहती है।

विनेश ने कहा कि अगर सरकार उसे अच्छे पद पर नौकरी देगी तो वह करेंगी। वहीं दूसरी ओर विनेश फोगाट के सम्मान में दादरी के रोज गार्डन में फोगाट और सांगवान खाप द्वारा सम्मान समारोह आयोजित किया गया । इस दौरान खापों के साथ-साथ सामाजिक संगठनों ने विनेश को सम्मानित किया। खाप प्रतिनिधियों ने विनेश के इस मुकाम पर पहुंचने और दादरी व क्षेत्र का नाम रोशन करने पर बधाई दी।

वहीं कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने किसी अधिकारी या मंत्री के नहीं पहुंचने के मामले में सरकार का बचाव किया। उन्होंने कहा कि सरकार को विनेश के आने की जानकारी नहीं थी। धनखड़ ने कहा कि विनेश ने प्रदेश का ही नहीं बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *