21वीं सदीं की बेटी ने बग्गी में बैठकर बैंड-बाजे के साथ निकाला बनवारा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Bhiwani

भिवानी में एक अलग ही नजरा देखने को मिला जब 21वीं सदीं की बेटी ने सारी बंदिशों को तोड़ते हुए अपने ही अंदाज में बनवारा निकाला। परिवार के लोगों ने भी बेटी को घोड़ा-बग्गी में बैठाकर व बैंड बाजे के साथ बनवारा निकाला। इस शादी की एक खास बात यह भी है कि वर पक्ष ने भी दान दहेज को तिलांजलि देते हुए केवल एक रुपया दुल्हन पक्ष से लिया है।

भिवानी के दादरी गेट निवासी हरियाणा पुलिस में एएसआइ के पद पर कार्यरत हरमहेंद्र बडगुजर ने अपनी बेटी नीतू की शादी डबवाली निवासी कस्टम इंस्पेक्टर नरवीर के साथ की। बृहस्पतिवार को बरात डबवाली से भिवानी आई है। दुल्हन नीतू दिल्ली में संस्कृत टीचर हैं। नरवीर के पिता मोहनलाल रेलवे में प्रशासनिक अधिकारी हैं। नरवीर के पिता  मोहनलाल ने भी दहेज रूपी सामाजिक बुराई का अंत करते हुए केवल एक रुपये बतौर शगुन लेने का फैसला किया है।

नीतू के चाचा भाजपा के अनूसचित मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व खटीक समाज के प्रदेशाध्यक्ष बिजेंद्र बडगुजर ने कहा कि देश में बेटियों के सम्मान के लिए भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया है। उसी नारे को चरितार्थ करते हुए खटीक समाज ने एक अनोखी पहल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *