बैंक लूट मामले में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, पैसे सहित मुख्यआरोपी गिरफ्तार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Bhiwani, 26 Nov, 2018
भिवानी पुलिस ने 22 नवंबर को राजकीय कॉलेज में बैंक गार्ड पर हमला कर मौत के घाट उतारने व लूट करने के बहुचर्चित मामले में बङी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने हत्या के आरोपी को लूट के पैसे सहित गिरफ्तार कर लिया है। खास बात ये है कि लूट व हत्या का आरोपी शिक्षा बोर्ड में अनुबंध आधार पर नौकरी करता था।
22 नवंबर की वो दोपहर भिवानी के लोग कभी नहीं भूलेंगे जब एक युवक राजकीय कॉलेज की एसबीआई शाखा में तेजधार हथियार लेकर घुसता है और एक के बाद एक गार्ड पर 8-10 वार कर गंभीर रुप से घायल कर देता है। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो जाती है जिसमें साफ दिखाई देता है कि ये हमलावर बैंक के गार्ड 52 वर्षिय ई·ार पर बङी ही बेरहमी से वार करता है। ये बेरहम हमलावर मात्र दो-अढाई मिनट में पूरी घटना को अंजाम देकर और बैंक में मिले करीब एक लाख रुपये लेकर फरार हो जाता है। घालय गार्ड की उसी दिन देर शाम इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस के लिए इस पहली को सुलझाना और हत्यारे को गिरफ्तार करना एक बङी चुनौती बन गई।
मामले की सूचना पाकर एसपी गंगाराम पूनिया तुरंत अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए सीआईए सहित पुलिस की 10 टीमें गठित की। एसटीएफ ने भी इस मामले की जांच शुरु की। दो दिन बाद बेरहम हत्यारे का कोई सुराग ना लगने पर एसपी गंगाराम पूनिया ने हत्यारे पर एक लाख रुपये ईनाम रखने के लिए विभाग के पास प्रस्ताव भी भेजा था। लेकिन ईनाम घोषित होने से पहले ही बेरहम हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया गया।
बेरहम हत्यारे की गिरफ्तारी के तुरंत बाद एसपी गंगाराम पूनिया ने प्रेसवार्ता कर पूरे मामले का पटाक्षेप किया। एसपी ने बताया कि घटना स्थल के आसपास घटना के कुछ समय पहले व बाद की सीसीटीवी चैक करने और सीआईए पुलिस की कङी मेहनत से आरोपी की पहचान की गई। उन्होने बताया कि घटना वाले दिन अंदेशा था कि हमलावर करीब एक लाख रुपये लेकर फरार हुआ है लेकिन बाद में जांच के बाद पता लगा कि हमलावर करीब 68 हजार रुपये लेकर भागा था। उन्होने बताया कि बेरहम हत्यारा पास के ही गांव बापोङा का रहने वाला टिंकू पुत्र कृष्ण है, जो अनुबंध आधार पर शिक्षा बोर्ड में चतुर्थ कर्मचारी लगा हुआ था।
एसपी गंगाराम पूनिया ने बताया कि फिलहाल गार्ड के हत्यारे टिंकू को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा जिसके बाद गार्ड पर हमले के सही कारणों का खुलासा हो पाएगा। उन्होने बताया कि आरोपी टिंकू से बैंक से लूटे गए 98 हजार रुपये में से 56 हजार रुपये बरामद किए गए हैं। एसपी ने बताया कि पुछताछ के दौरान ही खुलासा हो पाएगा कि टिंकू का बैकग्राऊंड क्या है।
बैंक गार्ड की इस प्रकार निर्मम हत्या का ये मामला ना केवल पुलिस के लिए बङी चुनती थी, बल्कि भिवानी जिला में इस प्रकार हत्या व लूट की ये पहली घटना थी जब कोई दिनदहाङे बैंक में घुस कर तेजधार हथियार से पूरी घटना को अंजाम दे गया हो। फिलहाल पुलिस व जिला भर के लोगों ने बेरहम हत्यारे की गिरफ्तारी के बाद राहत की सांस ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *