आंखों में मिर्ची डालकर लूट की झूठी वारदात को दिया अंजाम, पैसे न देने पड़े इसलिए रचि पूरी साजिश

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Gulshan Chawla, Yuva Haryana

Narwana, 21 August, 2018

 

नरवाना में आंखों में लाल मिर्च डालकर 10 लाख रुपए  की घटना झूठी निकली। पुलिस ने 35 मिनट  में ही लूट के मामले का पर्दाफाश कर आरोपी को गिरफ्तार कर साबित कर दिया कि अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो  कानून के हाथों से नही बच सकता

इंचार्ज ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि ने पुलिस की पूछताछ में माना कि उसने अपने कारोबार करने के लिए नरवाना के एक व्यक्ति से 10 लाख रूपए कुछ दिन पहले लिए थे।

मंगलवार को उसने ये 10 लाख रुपए वापिस लौटाने थे। लेकिन इस बीच उसके मन में एक योजना आई कि क्यूं न इन पैसों की लूट की झूठी घटना रच दी जाए और इन पैसों को हजम कर लिया जाए। बस इसी योजना के तहत वह अपने 10 लाख रुपए घर ही रखकर खाली बैग साथ लेकर नरवाना के चल दिया।

गांव के निकलते ही उसने अपने शरीर पर लाल मिर्च का पाउडर लगा लिया और दूसरे लोगों की सहायता से एक निजी अस्पताल में पहुंचा और वहां भी झूठा नाटक रचा। लेकिन पुलिस के अधिकारियों ने उसकी इस घटना को भांप लिया और सबसे पहले उससे पूछताछ की।

जिसमें उसने यह सब कबूल कर लिया। पुलिस ने बालकिशन के घर से पैसे बरामद कर उसके खिलाफ झूठी सूचना देने का मामला दर्ज कर लिया है।

यह था झूठा मामला-

ढाकल- सुदकैन लिंक मार्ग पर अज्ञात बाइक चालकों ने एक व्यक्ति की आखों में मिर्च डालकर 10 लाख रुपए लूट लिए। सूचना मिलते ही डीएसपी कुलवंत बिश्रोई व सीआईए टीम इंचार्ज प्रदीप हुड्डा ने मौके पर पहुंचकर घटना स्थल का जायजा लिया।

जानकारी के अनुसार सुदकैन गांव का बालकिशन अपनी दुकान से 10 लाख रुपए लेकर बैंक में जमा करवाने के लिए नरवाना जा रहा था, तो गांव से निकलते ही सामने से आ रहे दो बाइक सवारों ने बाइक रुकवाकर उसकी आंखों में मिर्च डाल दी और रुपयों से भरा बैग छीन कर फरार हो गए।

पीड़ित को सड़क के पास काम कर रहे किसानों ने अस्पताल में पहुंचाया और इस मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना स्थल के पास ही खाली बैग बरामद कर लिया। फिलहाल पुलिस ने लुटेरे की तलाश के लिए इलाके में नाकाबंदी करवाकर जांच शुरू कर दी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *